Breaking News
Home / ब्रेकिंग न्यूज़ / भदोही में कड़ी सुरक्षा के बीच पड़े 57.65 फीसदी वोट, सड़क को लेकर 1200 मतदाताओं ने किया बहिष्कार

भदोही में कड़ी सुरक्षा के बीच पड़े 57.65 फीसदी वोट, सड़क को लेकर 1200 मतदाताओं ने किया बहिष्कार

भदोही। जिले में कड़ी सुरक्षा और चैकसी के बीच 57.65 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इस दौरान कहीं से भी हिंसा की खबरें नहीं है। तीनों विधानसभाओं में शांतिपूर्वक मतदान का महापर्व बीत गया। इस दौरा जिलाधिकारी सुरेश कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक डीपीएन पांडये और केंद्रीय पर्वेक्षक चक्रमण कतरे दिखे। बुजुर्गों और युवाओं में वोटिंग के लेकर काफी उत्साह दिखा। कई बूथों पर ईवीएम की गड़बड़ी के अलावा सब कुछ सामान्य रहा। औराई विधानसभा में रोड की सुविधा उपलब्ध न होने से 1200 वोटरों ने मतदान का बहिष्कार किया। वहीं चौरी में 115 साल की वृद्ध महिला ने भी वोट किया। केंद्रीय सुरक्षा एवं बार्डर सिक्योंरिटी फोर्स के जवानों की कड़ी सुरक्षा में मतदान हुआ।
जिला प्रशासन से मिली जानकारी के अनुसार जिले में 57.65 फीसदी मतदान हुआ। जिमसें भदोही विधानसभा में 56.76, ज्ञानपुर में 56.45 और सबसे अधिक औराई में 59.48 फीसदी वोटिंग हुई। औराई विधानसभा के निजामपुर गांव में गांव वालों ने रोड की सुविधा न उपलब्ध न होने पर मतदान का बहिष्कार किया। इसके अलावां काफी संख्या में मतदाताओं का नाम वोटर लिस्ट से गायब रहा। जिसकी वजह से लोग वोटिंग नहीं कर पाए। जिले की ज्ञानपुर विधानसभा की रामकिशुनपुर बिसही गांव की बूथ संख्या 128 की ईवीएम खराब होने मतदान प्रभावित हुआ। इसके अलावा केवटाही के माडल पोलिंग बूथ पर भी ईवीएम खराब होने के बाद दूसरी ईवीएम बदली गयी। इसके अलावा पूर्व माध्यमिक बदलाव पाली में भी वोटिंग मशीन की खराबी से 30 मिनट मतदान प्रभावित हुआ। तकरीबन सभी विधानसभाओं में छिटपुट ईवीएम गड़बड़ी की शिकायत रहीं लेकिन उन्हें प्रशासनिक स्तर पर ठीक किया गया या दूसरी ईवीएम मशीन लगाई गयी। मतदाओं के रुझान से पता चला है कि यहां सभी दलों में त्रिकोणीय लड़ाई है। तीनों विधानसओं में लड़ाई की स्थिति अलग-अलग रहीं। लेकिन जाति-धर्म का झंड़ा हावी दिखा। वोटरों भदोही से भाजपा उम्मीदवार रविंद्रनाथ त्रिपाठी, बसपा से पूर्वमंत्री रंगनाथ मिश्र और सपा के जाहिद जमाल बेग एवं भाजपा से बागी डाक्टर आरके पटेल का भाग्य ईवीएम में बंद हो गया है। जबकि औराई से भाजपा उम्मीदवार पूर्वमंत्री दीनानाथ भाष्कर, सपा की वर्तमान विधायक मधुबाला पासी और बसपा के बैजनाथ के अलावा प्रतिष्ठा परक सीट ज्ञानपुर से सपा के बागी विधायक विजय मिश्र, बसपा के राजेश यादव , सपा से पूर्वमंत्री रामरति बिंद के अलावा भाजपा उम्मीदवार डाक्टर महेंद्र बिंद का भाग्य भी ईवीएम में बंद हो गया है। अब 11 मार्च को लोकतंत्र के सबसे बड़े भाग्य विधाता का फैसला आएगा। फिर पता चलेगा की यहां हिंदुत्वकार्ड चला या मोदी मंत्र अथावा काम बोलता है। मायावती की सोशल इंजीनियरिंग की भी स्थिति साफ होगी।

About admin

Check Also

एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने ली पद एवं गोपनीयता की शपथ

गाजीपुर। केमिस्‍ट एंड ड्रगिस्‍ट एसोसिएशन के नवनिर्वाचित पदाधिकारियों का शपथ ग्रहण स्‍थानीय लंका मैदान स्थित …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *