Breaking News
Home / ग़ाज़ीपुर / मौर्यवंशियों ने ही डुबाई सपा प्रत्याशी राजेश कुशवाहा की लुटिया

मौर्यवंशियों ने ही डुबाई सपा प्रत्याशी राजेश कुशवाहा की लुटिया

शिवकुमार

गाजीपुर। सदर विधानसभा में सपा प्रत्‍याशी राजेश कुशवाहा के पक्ष में कुशवाहा मत लामबंद न होने से साइकिल पंचर हो गयी। कुशवाहा बाहुल्‍य ग्रामों में कुशवाहा मतदाता साइकिल की सवारी न करके कमल के फूल को काफी तवज्‍जो दिये। जिसके चलते राजेश कुशवाहा की करारी हार हो गयी। कुशवाहा मतदाताओं का साइकिल को नापसंद करने के प्रमुख कारणों में स्‍थानीय और प्रादेशिक कारक हैं। कुशवाहा मतदाता इस चुनाव में भाजपा के प्रदेश अध्‍यक्ष केशव प्रसाद मौर्या को उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री के चेहरे के रुप में देख रहा था। स्‍थानीय कारकों में सपा से हाल में भाजपा की सदस्‍यता ग्रहण किये उत्‍तर प्रदेश को-आपरेटिव यूनियन लिमिटेड के चेयरमैन उमाशंकर कुशवाहा ने अपने पुराने हिसाब-किताब को पूरा करने के लिए व पार्टी में अपनी साख बनाये रखने के लिए एड़ी से लेकर चोटी तक का जोर लगा दिया। जिसके फलस्‍वरुप छावनी लाईन, मंगल मड़ई, गरथौली, खानकाह कला जैसे कुशवाहा बाहुल्‍य क्षेत्रों में समाजवादी पार्टी की करारी शिकस्‍त का मुंह देखना पड़ा। हार के कारणों पर टिप्‍पणी करते हुए समाजवादी यदुवंशी नेताओं ने बताया कि कुशवाहा मतदातओं का गलत आकड़ा हाईकमान के सामने पेश कर टिकट ले लिया गया था। हाईकमान के सामने कुशवाहा मतदाताओं की संख्‍या सदर विधानसभा में 45 हजार बतायी गयी थी। जबकि कुशवाहा मतदाता सदर विधानसभा में लगभग 17 हजार हैं। 45 हजार कुशवाहा मतदाता जमानियां विधानसभा में हैं। कुशवाहा मतदाताओं ने बसपा से मोह भंग होने के बाद सीधे भाजपा का दामन थाम लिया। कुशवाहा मतदाताओं ने कभी भी साइकिल को प्रथम प्राथमिकता नही दिया। जिस प्रकार से बिंदों ने भाजपा के पक्ष में लामबंद होकर मतदान किया। यही वजह है‍ कि सदर विधानसभा में राजेश कुशवाहा को हार का सामना करना पड़ा।

 

About admin

Check Also

कड़े और बड़े फैसलों के लिए जानी जायेगी मोदी सरकार- मनोज सिन्हा

गाजीपुर। मोदी सरकार के तीन वर्ष होने पर रेल एवं दूरसंचार राज्‍य मंत्री मनोज सिन्‍हा …