Home / ग़ाज़ीपुर / आजादी के बाद पहली बार स्व. रामधारी पहलवान के गांव नैसारा में हुई साइकिल पंचर

आजादी के बाद पहली बार स्व. रामधारी पहलवान के गांव नैसारा में हुई साइकिल पंचर

गाजीपुर। परिवर्तन की लहर में अंग्रेजों के दांत खट्टे कर देने वाले आजादी के बाद लंबे समय तक देवकली के ब्‍लाक प्रमुख पद पर काबिज रहने वाले पहलवान स्‍व. रामधारी यादव के गांव नैसारा में भी समाजवादी पार्टी की हार हो गयी। राजनैतिक पंडित बताते है कि चौधरी चरण सिंह के जमाने से ही इस गांव में लोकदल की विजय होती थी। लोकदल के बाद 2012 त‍क सपा का झंडा लहराता रहा। इस बार इस गांव में समाजवादी प्रत्‍याशी को हार का सामना करना पड़ा। इस संदर्भ में रामधारी यादव के पौत्र देवकली के ब्‍लाक प्रमुख प्रतिनिधि व शिक्षक नेता सच्‍चेलाल यादव ने पूर्वांचल न्‍यूज डाट काम को बताया कि गांव के एक बूथ पर हम जीते हैं लेकिन दूसरे बूथ पर हरिजन और मुसलमान ज्‍यादे होने के कारण बसपा जीत गयी है। दोनों बूथों का वोट जोड़ने पर हम बसपा से हारे हैं लेकिन भाजपा से नही। राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव के यहां शिक्षक नेता सच्‍चेलाल ने राजेश कुशवाहा की जोरदार पैरवी की थी कि मैं चुनाव जि‍ताकर आपके पास ले आऊंगा। चर्चा है कि सच्‍चे भाई अपने गांव में ही सपा को नही जिता पाये फिर विधानसभा कैसे जिता पातें।

About admin

Check Also

बलिया के दो परीक्षा केन्द्र होंगे ब्लैकलिस्टेड

बलिया। एसडीएम बाबूराम चौधरी व नायब तहसीलदार चन्द्रभूषण प्रताप के साथ सेमरी में दो परीक्षा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *