Breaking News
Home / बलिया / ‘होमवर्क’ फ्लाप… ‘एक्शन’ में बलिया डीआईओएस

‘होमवर्क’ फ्लाप… ‘एक्शन’ में बलिया डीआईओएस

बलिया। माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित यूपी बोर्ड की परीक्षा को शूचिता के साथ-साथ व्यवस्थित तरीके से सम्पन्न कराने के लिए जिला प्रशासन ने जमकर होमवर्ककिया था। यहां तक कि जिलाधिकारी की अध्यक्षता में कई बार बैठकें हुई। जिलाधिकारी ने केन्द्राध्यक्षों की बैठक में नकल रोकने का साफ-साफ निर्देश दिया था। डीएम की सोच थी कि नकल हुआ, तो मेधावियों की मेधा प्रभावित हो सकती है, लेकिन आदेश व सोच सब कुछ धरा का धरा रह गया। परीक्षा के पहले दिन जिला प्रशासन ने नकल की धारा रोकने का प्रयास किया, लेकिन नकल माफियाओं के सामने प्रशासन की एक न चली। परीक्षा शुरू होते ही व्यवस्था तार-तार हो गयी है। कहीं परीक्षार्थी जमीन पर बैठकर परीक्षा दे रहे थे, तो कहीं एक-एक बेंच पर पांच-पांच परीक्षार्थी बैठ रहे है। इसके चलते परीक्षा की शूचिताका चीरहरण हो गया है। इसको देखते हुए जिला विद्यालय निरीक्षक रमेश सिंह ने सख्त कदम उठाया है। उन्होंने शुक्रवार को स्पष्ट किया कि यदि किसी केन्द्र पर परीक्षार्थी जमीन पर परीक्षा देते मिले तो सम्बंधित केन्द्र को न सिर्फ डिबार घोषित किया जायेगा, बल्कि उसकी मान्यता भी रद कर दी जायेगी।

गौरतलब हो कि 16 मार्च से यूपी बोर्ड की परीक्षा शुरू हुई, लेकिन परीक्षा के पहले ही दिन जिला प्रशासन की तैयारियां अव्यवस्था की भेंट चढ़ गयी। नकल पर नकेल का इंतजाम तो फ्लाप हुआ ही, कई केन्द्रों पर परीक्षार्थियों को बैठने तक की जगह नहीं थी। कुछ केन्द्रों पर बीए पास छात्र भी कक्ष निरीक्षक के रूप में दिखे। परीक्षा के दौरान दुर्व्यवस्था की बात मीडिया की सुर्खियां बनी। लिहाजा जिला विद्यालय निरीक्षक रमेश सिंह को कड़ा एक्शन लेना पड़ा है। शुक्रवार को प्रेस विज्ञप्ति जारी कर जिला विद्यालय निरीक्षक रमेश सिंह ने जनपद के समस्त प्रधानाचार्य/केन्द्र व्यवस्थापकों को निर्देशित किया कि किन्ही भी स्थितियों में परीक्षार्थियों को जमीन पर बैठाकर परीक्षा न दिलवायें। यदि किसी भी विद्यालय में जमीन पर परीक्षा दिलाते हुए पाया गया तो उस विद्यालय की मान्यता समाप्त करने के साथ ही डिबार करने के लिए शासन को भेज दिया जायेगा।

About admin

Check Also

योगविज्ञान की राजधानी बनेंगा गोरखपुर- मुख्यमंत्री

लखनऊ/गोरखपुर! गोरखनाथ मंदिर के दिग्विजय स्मृति सभागार में आज बाबा गंभीरनाथ शताब्दी पुण्यतिथि का समापन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *