Home / ग़ाज़ीपुर / बिना पूर्व स्वीकृति जुलूस निकालना माना जायेगा आचार संहिता का उल्लंघन- डीएम
unnamed (1)

बिना पूर्व स्वीकृति जुलूस निकालना माना जायेगा आचार संहिता का उल्लंघन- डीएम

गाजीपुर। विधान सभा सामान्य निर्वाचन 2017 को सकुशल, स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने हेतु जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री एवं पुलिस अधीक्षक सुभाष चंद्र दूबे की संयुक्‍त अध्यक्षता में समस्त उपजिलाधिकारियों, क्षेत्राधिकारियों, एवं थानाध्‍यक्षों की संयुक्‍त बैठक पंचायत भवन सभागार में मंगलवार को सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने समस्त उपजिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि नामांकन के पश्चात जो भी रैली, सभा, जुलूस, निकाला जायेगा उसके  एक दिन पूर्व स्वीकृति लेनी पड़ेगी। बिना स्वीकृति  के जुलूस आदि निकालने पर सम्बंधित के खिलाफ आदर्श आचार संहिता के उलंघन में आवश्यक कार्यवाही की जायेगी। सभी उपजिलाधिकारियों को अभिसूचना इकाई से रिपोर्ट को प्राप्त कर कार्य करने को कहा। आदर्श बूथ की चेक लिस्ट तैयार कर ली जाय। जहा पोलिंग प्रतिशत कम होते है उसकी लिस्ट तथा प्रत्याशियों द्वारा जहा-जहा सभा जुलूस, रैली की गयी है उसकी स्वीकृति अविलम्ब प्रस्तुत करने को कहा गया। एएसटी के लिस्ट के बाबत जानकारी ली गयी तथा सभी बीएलओ को ट्रेनिंग कराने को कहा गया। ताकी कार्य में विलंम्ब न हो। वाहन उपलब्धता के सम्बंध में जिलाधिकारी ने एआरटीओ से जानकारी प्राप्त की। जिलाधिकारी ने समस्त सरकारी/संविदा/ठेका  पर समस्त विभागो में कार्यरत कर्मचारियो को मतदान करने के लिए सम्बंधित अधिकारियों से उनकी लिस्ट तैयार कर देने को कहा। निर्वाचन से सम्बंधित कोई शिकायत अथवा सुझाव निर्वाचन कार्यालय के कन्ट्रोल रूम के दूरभाष नम्बर 0548-2220211 पर दिया जा सकता है। तहसीलदार मतदाताओं में विश्वास पर्ची देने का कार्य करेगे। विश्वास पर्ची में कन्ट्रोल रूम एवं दस बडे अधिकारियों का संपर्क नंम्बर होगा। जिसपर किसी भी शिकायत के लिए सम्पर्क किया जा सकता है। पिछले चुनाव में जहा-जहा विवाद हुए है वहा विशेष रूप से चौकसी बरती जाय। पर्दानशीन महिलाओं की बूथों को चिन्हित कर  महिला कर्मचारियों को लगाया जायेगा। पुलिस अधीक्षक ने 107/16 में पाबंद हुए लोगो की थानावाइज जानकारी ली तथा जो भी असलहे जमा है उसका सत्यापन करा ले तथा संवेदनशील स्थानो पर चौकसी बरतने को कहा। गांव-गाव जाकर चेक करे कि कौन-कौन मतदान के दौरान प्रलोभन देने, धमकाने, पैसा बाटने का कार्य कर सकते है, उन्हे पहले से ही चिन्हित कर लें। मतदान के दौरान प्रलोभन देने वाला एवं  लेने वाला  दोनों पर कार्यवाही की जायेगी। सीमावर्ती स्थानों पर बैरियर लगाकर सीसीटीवी कैमरा लगाने का निर्देश दिया गया।

About admin

Check Also

unnamed (3)

मनोज सिन्हा बोले… यूपी में चल रही भाजपा की सुनामी

Share this on WhatsAppबलिया। रेल राज्य एवं संचार मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) मनोज सिन्हा ने कहा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *