Home / चर्चा में / पुलिस और अमरनाथ चौबे दे रहें हैं बाहुबली एमएलसी बृजेश सिंह और विधायक सुशील सिंह को टेंशन

पुलिस और अमरनाथ चौबे दे रहें हैं बाहुबली एमएलसी बृजेश सिंह और विधायक सुशील सिंह को टेंशन

वाराणसी। राम बिहारी चौबे हत्‍याकांड को लेकर बाहुबली एमएलसी बृजेश सिंह और उनके भतीजे विधायक सुशील सिंह काफी टेंशन में है। एक तरफ स्‍व. राम बिहारी चौबे के पुत्र अमरनाथ चौबे ने भाजपा विधायक सुशील सिंह पर अपने पिता की हत्‍या का सीधा आरोप लगाया है। दूसरी तरफ पुलिस गिरफ्तार अजय मरदह समेत तीनो आरोपियों को रिमांड पर लेने के लिए कमर कस ली है। पुलिस ने मामले की तह तक जाने का निर्णय लिया है। मामले में गिरफ्तार अजय मरदह समेत तीनों आरोपितों को पुलिस कस्टडी रिमांड पर लेकर विस्तृत पूछताछ करेगी। घटना में प्रयुक्त असलहों की बरामदगी से लेकर इसकी साजिश रचने वालों तक पहुंचने की खतिर पुलिस ने यह निर्णय लिया है। एसपी आरए आशीष तिवारी का कहना है कि पुलिस कोर्ट में इसके लिए प्रार्थना पत्र देगी और कस्टडी रिमांड पर लेने के बाद विस्तृत पूछताछ करेगी। घटना में प्रयक्त असलहों की बरामदगी समेत कई बिन्दुओं पर अभी काम होना शेष है। राम बिहारी चौबे अपने श्रीकंठपुर (चौबेपुर) स्थित आवास पर 4 दिसंबर की सुबह गोलियों से छलनी कर दिये गये थे। दो बाइक से पहुंचे चार बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया और आराम से निकल गये। घटना के बाद परिवार ने अज्ञात के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी और स्थानीय पुलिस से लेकर क्राइम ब्रांच और एसटीएफ तक आरोपितों की तलाश में लगी। समय बीतने के साथ मामला ठंडे बस्ते में चला गया। पिछले दिनों एसटीएफ ने ठेकेदार सुनील सिंह की हत्या के मामले में 13 साल से फरार चल रहे वीर कुमार सिंह को गिरफ्तार किया जिसके बाद इस वारदात के बाबत भी सुराग मिले। पुलिस ने छह अप्रैल की सुबह छापेमारी में अजय मरदह और नागेन्द्र उर्फ सनी सिंह को हिरासत में लेने की कोशिश की जिसका भाजपा विधायक सुशील सिंह ने विरोध किया। बावजूद इसके पलिस ने तीन लोगों का इस मामले में चालान कर दिया जिसके बाद आरोप-प्रत्यारोप का दौर आरम्भ हो गया है। पिता की हत्या में भाजपा विधायक सुशील सिंह की कथित संलिप्तता का आरोप लगाने वाले स्व. राम बिहारी चौबे के पुत्र अमरनाथ पर खतरा बढ़ गया है। पिता के हत्यारों के खिलाफ उनकी जंग कइयों की नजर में खटक रही है। बावजूद इसके उन्हें किसी तरह की सुरक्षा नहीं मिली है। अमरनाथ का कहना है कि वह पिता के हत्यारों के निशाने पर हैं। जल्द ही वह आला अधिकारियों से मिल अपनी सुरक्षा के लिए गुहार लगायेंगे। फिलहाल लाइसेंसी असलहों से अपनी सुरक्षा का प्रयास करेंगे। इस बाबत एसपी आरए का कहना है कि सुरक्षा के लिए यदि प्रार्थनापत्र मिलता है तो नियमानुसार कार्रवाई की जायेगी।

About admin

Check Also

चार दिन पूर्व बैगन की खेत में मिला था शव, आशनाई में गई युवक की जान

मिर्जापुर। अहरौरा थाना क्षेत्र के मानिकपुर गांव के बैगन की खेत में मिले मृत युवक …