Home / न्यूज़ प्लस / अमरनाथ चौबे ने सीएम योगी के दरबार में लगाई न्याय की गुहार

अमरनाथ चौबे ने सीएम योगी के दरबार में लगाई न्याय की गुहार

वाराणसी। बाहुबली एमएलसी बृजेश सिंह के करीबी रहे राम बिहारी चौबे की हत्या का मामला अब सीएम योगी आदित्यनाथ के पास पहुंच चुका है। पहले भाजपा के विधायक सुशील सिंह इस मामले को लेकर पहुंचे थे तो स्व. चौबे के पुत्र अमरनाथ ने भी सीएम से मिल कर न्याय की गुहार लगायी है। अमरनाथ का आरोप है कि सुशील अपने प्रभाव का इस्तेमाल करते हुए पुलिस पर दबाव डाल रहे हैं। आरोपितों की बचाव की खातिर उतरने से मामले में उनकी संलिप्तता जाहिर हो चुकी है। सीएम सभी के होते हैं और यदि उनका विधायक हत्या जैसे जघन्य अपराध में संलिप्त है तो कार्रवाई होनी चाहिये। अमरनाथ के मुताबिक सीएम प्रकरण से भिज्ञ थे और उन्होंने निष्पक्ष कार्रवाई का भरोसा दिलाया है। राम बिहारी चौबे चार दिसंबर 2015 को अपने श्रीकंठपुर (चौबेपुर) स्थित आवास में गोलियों से छलनी कर दिये गये थे। बाइक सवार बदमाशों ने पैर छूने के बाद गोलियां बरसानी शुरू की थी। मामला सवा साल तक ठंडे बस्ते में पड़ा रहा। इस बीच ठेकेदार सुनील सिंह हत्याकांड में वीर कुमार सिंह की गिरफ्तारी के बाद मिली जानकारी पर चौबेपुर पुलिस हरकत में आ गयी। इस मामले में छह अप्रैल को चांदमारी (शिवपुर) से अजय मरदह की गिरफ्तारी को फोर्श पहुंची तो सैयदराजा के भाजपा विधायक सुशील सिंह आ धमके। विधायक की पुलिस से तीखी नोंक-झोक भी हुई। मशक्कत के बाद पुलिस अजय को गिरफ्तार कर सकी लेकिन स्व. चौबे के पुत्र अमरनाथ ने विधायक के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। आरोपों के चलते दो दिन पहले विधायक को प्रेस क्रांफेंस कर सफाई देनी पड़ी। अमरनाथ का कहना है कि मुख्यमंत्री समूचे घटनाक्रम से पूरी तरह से भिज्ञ थे। उनका कहना था कि कार्रवाई हुई हैं न? पुलिस पर कोई दबाव असर नहीं किया। आगे भी जो होगा वह न्यायोचित ही होगा। अमरनाथ ने इस मामले को लेकर एसओ से डीजीपी तक भेजे गये पत्र की प्रति के अलावा आरोपित की हिस्ट्रीशीट भी सौंपी है। साथ ही विधायक के खिलाफ दर्ज मामलों का कच्चा-चिट्ठा दिया है। इससे पहले विधायक भी सीएम से मिल कर इस मामले में पुलिस कार्रवाई पर सवालिया निशान लगा चुके हैं। मामला सीएम के दरवार पहुंच चुका है और आरोप-प्रत्यारोप को देखते हुए चौबेपुर पुलिस बैकफुट पर आ गयी है। गिरफ्तारी व खुलासे के बाद पुलिस कस्टडी रिमांड से लेकर दो अन्य की गिरफ्तारी को लेकर जो दाबे किये गये थे वह हवा-हवाई साबित हो रहे हैं।

About admin

Check Also

बलिया में चुनावी ट्रेनिंग से गायब दो वीडीओ व 13 शिक्षक सस्पेंड

बलिया। नगरीय निकाय सामान्य निर्वाचन-2017 में लगी ड्यूटी के तहत प्रशिक्षण में अनुपस्थित 13 शिक्षकों …