Breaking News
Home / अपराध / नई शराब की दुकान पर महिलाओं ने बोला धावा, किया तोड़-फोड़

नई शराब की दुकान पर महिलाओं ने बोला धावा, किया तोड़-फोड़

गाजीपुर/मरदह। शराब की दुकानों को लेकर ग्रामीणों का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा हैं। रोजाना कही न कही धरना-प्रदर्शन,तोड़-फोड़,मारपीट की घटनाएं आम हो गई है। सोमवार को भी दिन में एक बजे के करीब राजभर, हरिजन बस्ती की महिलाओ ने मरदह बस स्टैंड राष्ट्रीय राज मार्ग से उठ कर आई मरदह-कासिमाबाद मार्ग पर बैंक ऑफ इंडिया के सामने देसी, अंग्रेजी, बियर की दुकान पर धावा बोल दिया। महिलाओ ने सबसे पहले तो देसी शराब की दुकान का ताला तोड़ उसमे रखी शराब की पेटी को निकाल बाहर बगल में स्तिथ नाले में फेंकने लगी। इससे भी मन नही भरा तो शराब की बोतलों को बीच सड़क पर ही फेंकनी लगी। ग्रामीणों का उग्र रूप देख सेल्समैन वहाँ से खिसक लिया। तोड़-फोड़ करने के बाद ग्रामीणों ने मरदह-कासिमाबाद मार्ग को करीब एक से दो घंटे जाम कर प्रशासन और आबकारी विभाग के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाने लगे। ग्रामीणों का कहना था कि बीच आबादी से शराब की दुकान अन्यत्र कही ले जायी जाय। इससे ग्रामीणों खासकर महिलाओं,छात्राओं को खासी असहज स्थिति का सामना करना पड़ रहा है। पुलिस प्रशासन को जाम खुलवाने में खूब मशक्‍कत करनी पड़ी। मौके पर पहुँचे थानाध्यक्ष किशोरी लाल के आश्वासन दिया कि दुकान यहाँ हरगिश नहीं खुलने दी जायेगी तब ग्रामीण माने। घंटो चले तोड़-फोड़ बवाल के पीछे लोग खूब तमाशबीन बने रहे। इस मौके पर लल्लन राजभर, सुरेन्द्र राजभर, अजय कुमार, हरेन्द्र प्रसाद, लालू, हरिनरायण, दिनेश, विक्की, हीरामन, जगदीश, संतोष, चन्द्रभान, रामजी सिहं, आलोक, विवेक, बृजेश, सरोज देवी, शकुन्तला, समुन्दरी, पुष्पा, कलावती, कुसुम, सरस्वती, लालती, गुङिया, प्रेमशीला, लालसा, शारदा, माया, कुमारी, सुभावती, शनीचरी देवी आदि लोग मौजूद रहे। इस मामले में दुकान मालिक राजू कुमार ने मरदह थाने में लिखित तहरीर दी जिसमें 259 पेटी देशी शराब 75,645 रूपये नगद लूट कि जानकारी दी, इस मामले में थानाध्यक्ष किशोरी लाल शर्मा ने बताया कि चार नामजद में हरेन्द्र प्रसाद, सुधीर कुमार, लल्लन राजभर, नितेश राजभर, सहित 50 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर तलाश जारी है।

 

About admin

Check Also

दोस्त की दगाबाजी: गाड़ी में लगाया ब्रेक और जिंदगी ही थम गयी

मिजार्पुर। जिसे वह अपने भाई की तरह मानता था,  दोनों एक ही कम्पनी में एक …