Breaking News
Home / अपराध / खुलासा: पति ही निकला अपने पत्नी और मासूम बच्चे का हत्यारा

खुलासा: पति ही निकला अपने पत्नी और मासूम बच्चे का हत्यारा

गाजीपुर। पति ही निकला अपने पत्‍नी और मासूम सात माह के बच्‍चे का हत्‍यारा। हत्‍यारे पति को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस अधीक्षक सुभाष चंद्र दूबे ने बुद्धवार को पुलिस कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में बताया कि सात अप्रैल की रात्रि में जमानियां थाना क्षेत्र अंतर्गत गायघाट जाने वाली रोड पर एक अज्ञात महिला का शव मिला तथा पास ही खेत में सात माह का घायल बच्‍चा मिला। घायल बच्‍चे को अस्‍पताल ले जाते समय रास्‍ते में ही मौत हो गयी। इस घटना की रिर्पोट जमानियां थाने में मुकदमा संख्‍या 334/17 धारा 302, 201, 307 में पंजीकृत कर मामले की छानबीन शुरु हो गयी। इस संदर्भ में मृत महिला के भाई मंटू यादव निवासी नई बाजार थाना जमानियां ने अज्ञात शव की पहचान की। इसके बाद पुलिस को सूचना मिली कि दोहरे हतयकांड का मुलजिम जमानियां स्‍टेशन से भागने की फिराक में है। पुलिस ने उस व्‍यक्ति को हिरासत में लेकर पूछताछ करने लगी। गिरफ्तार पप्‍पू यादव ने बताया कि मेरी शादी रेनू यादव के साथ 2008 में हुआ था। शादी के बाद हमारे घर वालों ने हम लोगों को अलग कर दिये थे। तबसे हम पत्‍नी से साथ ससुराल जमानियां में रहते थे। हम चांदी व कपड़ा की फेरी कर अपना पेट पालते थें। हमारा संगत गलत हो गया और हम नशे के आदती हो गये। जिसका विरोध हमारी पत्‍नी व ससुराल पक्ष द्वारा किया जाता था। जिसके कारण हमारी पत्‍नी से हमेशा झगड़ा होता रहता था। हम सात अप्रैल को अपनी पत्‍नी व सात माह के बेटे अर्पित को मोटरसाइकिल पर बिठाकर दवा-इलाज व झांड-फूंक के बहाने ससुराल से बिहार की तरफ जाने लगे। कर्मनाशा नदी के उस पार बिहार में काशीदास बाबा मंदिर के स्‍थान पर ले गया तथा सारा दिन वही बिताया। शाम होने पर वहा से निकला और गायघाट वाली रोड पर चाकू मारकर अपनी पत्नी की हत्‍या कर दिया। अपने बच्‍चे को वही छोड़ दिया ताकि कोई राहगीर बच्‍चे को पा जायेगा और उसका पालन-पोषण हो जायेगा। मैं वहा से बिहार भाग गया। पुलिस टीम में एसओ कृष्‍णप्रताप सिंह, एसआई शिवानंद मिश्रा, ओमकार तिवारी, सिपाही विपिन कुमार, कृष्‍ण कुमार, यशवंत सिंह को डीआईजी वाराणसी ने पुलिस टीम को 12 हजार नकद पुरस्‍कार देने की घोषणा की है।

About admin

Check Also

दोस्त की दगाबाजी: गाड़ी में लगाया ब्रेक और जिंदगी ही थम गयी

मिजार्पुर। जिसे वह अपने भाई की तरह मानता था,  दोनों एक ही कम्पनी में एक …