Breaking News
Home / बनारस / अब बंदियों द्वारा मोबाइल फोन का इस्तेमाल नामुमकिन होगा

अब बंदियों द्वारा मोबाइल फोन का इस्तेमाल नामुमकिन होगा

वाराणसी। प्रदेश की जेलों से मोबाइल फोन पर बातचीत का सिलसिला जारी है। बंदियों की ओर से मोबाइल फोन के जरिए जेल के बाहर फोन करने पर पाबंदी लगाने के लिए जैमर लगाया लेकिन एक चूक हो गई। इस चूक का फायदा तकनीकी रूप से जानकार जेल में बंद बंदी उठाते। खासतौर से प्रदेश की उन जेलों में जहां पर यूपी के कई चर्चित बाहुबली फिलवक्त बंद हैं। जेल प्रशासन के जरिए जब प्रदेश सरकार तक बात पहुंची तो शासन ने ऐसा कदम उठाया कि अब बंदियों द्वारा मोबाइल फोन का इस्तेमाल नामुमकिन होगा। दरअसल, जेल में सरकार ने मोबाइल फोन जैमर तो लगा दिया लेकिन यह जैमर तभी तक काम करता जब तक बिजली रहती है। बिजली कटते ही जैमर काम करना बंद कर देता है। अपराधियों से साठगांठ रखने वाले जेल कर्मियों ने बंदियों तक यह बात पहुंचा दी। जेल में बंद हार्डकोर अपराधी बिजली कटते ही मोबाइल फोन का उपयोग शुरू कर देते हैं। जेल प्रशासन की रिपोर्ट पर सरकार ने प्रदेश की सात जिला जेलों वाराणसी, आगरा, मुजफ्फरनगर, मेरठ, मीरजापुर, सुल्तानपुर व गौतमबुद्ध नगर में सोलर पॉवर बैकअप की व्यवस्था की है। इन जिलों में फिलहाल सोलर पॉवर बैकअप सिस्टम के जरिए जैमर को चौबीस घंटे चालू रखा जाना है। प्रदेश सरकार ने सोलर पॉवर बैकअप के लिए अवशेष धनराशि 15 लाख 68 हजार रुपये स्वीकृत कर दिया गया है। सरकार ने सोलर बैकअप संयत्र की स्थापना के लिए निर्देश दिया है कि हर हाल में 30 सितंबर तक कार्य पूर्ण हो जाए।

About admin

Check Also

केन्द्रीय राज्यमंत्री अनुप्रिया ने जनचौपाल लगाकर सुनी समस्या

मिर्जापुर। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल ने ग्राम नकहरा के एसबी पब्लिक …