Breaking News
Home / बलिया / कोलकत्ता से आया… तय हुई शादी, फिर गंगा में समा गया अमरजीत

कोलकत्ता से आया… तय हुई शादी, फिर गंगा में समा गया अमरजीत

रामगढ़, बलिया। हल्दी थाना क्षेत्र के पचरुखिया गंगा घाट पर रविवार की सुबह गंगा में स्नान करते वक्त एक 22 वर्षीय युवक का पैर फिसल गया, जिससे वह गहरे पानी में चला गया। भाई को डूबते देख साथ स्नान करने आया उसका छोटा भाई और मामा भी बचाने का प्रयास में वह भी डूबने लगे। तब तक घाट पर स्नान कर रहे धनु चौधरी की नजर डूबते युवकों पर पड़ी। धनु ने किसी तरह तो 2 लोगों को बचा लिया। लेकिन अमरजीत गंगा की लहरों में समा गया। पुलिस ने जाल डलवाकर ढूंढने का प्रयास कर रही है। बताते चलें कि पचरुखिया गांव निवासी श्रीभगवान पासवान का 22 वर्षीय पुत्र अमरजीत पासवान अपने छोटे भाई व मामा के साथ स्नान करने के लिए गंगा नदी के पचरुखिया घाट पर गया हुआ था। स्नान करते वक्त अमरजीत का पैर फिसल गया और वह गहरे पानी में चला गया। भाई को डूबते देख उमेश पासवान भी नदी में छलांग लगाई। साथ ही दोकटी थाना क्षेत्र के लक्ष्मण छपरा गांव निवासी मामा मुन्ना  नदी में छलांग लगाई ।तब तक ये भी डूबने लगे। किसी तरह मनीष (16) व मुन्ना (26)  को पचरुखिया गांव निवासी धोनी चौधरी ने बचा लिया, लेकिन तब तक अमरजीत आंखों के सामने ही नदी में समा गया। अमरजीत की डूबने की खबर परिजनों में कोहराम मच गया।

कोलकाता से मौत खींच लाई थी अमरजीत को
 श्री भगवान अपने पूरे परिवार के साथ शुक्रवार को कलकत्ता से ट्रेन पकड़कर शनिवार को अपने गांव रेवती थाना क्षेत्र के पचरुखिया गांव पहुंचा था। कल दोपहर में अमरजीत की शादी के लिए लड़की देखने का रस्म अदायगी सहतवार स्थित चैन राम बाबा के प्रांगण में किया गया। जहां पर अमरजीत की शादी खेवसर गांव में तय हो गई थी। पूरे परिवार में खुशी का माहौल था, जो पलक झपकते ही गम में बदल गया। मां पन्ना का रोते-रोते बुरा हाल था।

About admin

Check Also

चंदौली: घर में खाना बना रही दलित किशोरी संग दुष्कर्म

सकलडीहा/धानापुर। सकलडीहा कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में बुधवार को सुबह साढ़े आठ बजे घर …