Home / न्यूज़ प्लस / रक्षाबन्धन पर बहनें मांगे भाईयों से शौचालयः जिलाधिकारी

रक्षाबन्धन पर बहनें मांगे भाईयों से शौचालयः जिलाधिकारी

मिर्जापुर। जिलाधिकारी बिमल कुमार दूबे ने कहा कि रक्षा बन्धन के पवित्र त्योहार पर सभी बहने जिनके घरों में शौचालय नहीं है वे अपने भाइयों से उपहार में शौचालय की मांग करें। जिलाधिकारी आज विकास खण्ड सिटी में स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत आयोजित रक्षा बन्धन के अवसर पर ‘‘ब्रदर प्रथम‘‘ प्रतियोगिता कार्यक्रम में उपस्थित आगॅनवाड़ी कार्यकत्रियो एवं गांव से आये अन्य भाई-बहनों को संबोधित कर रहे थे। उन्होने कहा कि खुले में शौच मुक्त करने के लिए जागरूकता कार्यक्रम में उपस्थित सभी बहने रक्षा बन्धन के अवसर पर शौचालय की मांग करें। उन्होने कहा कि जो भाई अपनी बहन को शौचालय देगा उसके निर्माण के बाद सत्यापन कराया जायेगा। सत्यापन में जो शौचालय सबसे अच्छा रहेगा, उस भाई को प्रथम पुरस्कार के रूप में एलसीडी टी.वी. दिया जायेगा। इसी प्रकार द्वितीय व तृतीय पुरस्कार भी प्रदान किया जायेगा। जिलाधिकारी ने कहा कि गांवों में कुपोषण को दूर करने के लिए भी शौचालय का होना आवश्यक है। खुले में शौच करने से उनेक बीमारियां फैलती है और उस बीमारी के कारण बच्चे कुपोषित हो रहे है। उन्होने सभी से कहा कि इस कार्यक्रम को सभी विकास खण्ड़ों में आयोजित किया जाये तथा स्वच्छता के प्रति लोगों में लागरूकता लायी जाये। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी प्रियंका निरंजन ने ग्राम प्रधानों से कहा कि गांवों में निगरानी समिति को सक्रिय करें। उन्होने कहा कि यदि महिलाएं घर में दबाव बनाएं तो खुले में शौच से मुक्ति पायी जा सकती है। इस अवसर पर जिला पंचायत राज अधिकारी बालेश्वरधर द्विवेदी ने जिलाधिकारी का स्वागत किया तथा स्वच्छता मिशन के जागरूकता के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी दी। कार्यक्रम में उपस्थित कुमारी अंजुला सिंह को आशीष सिंह, गुंजा देवी को रामराज पटेल व प्रीती को कमाल ने अपनी बहनो को शौचालय उपहार देने के लिए कार्यक्रम में रजिस्ट्रेशन कराया तथा कहा कि अपनी बहनों के लिए माण्डल शौचालय का निर्माण करायेगें। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी प्रियंका निरंजन, ज्वाइन्ट मजिस्ट्रेट अश्वनी कुमार पाण्डेय के अलावा अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

 

 

About admin

Check Also

नवयुवकों को रोजगार के लिए दिया गया प्रशस्ति पत्र

मिर्जापुर।  नक्सल प्रभावित गांवों के बेरोजगार नवयुवकों को रोजगार प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए प्रोत्साहित एवं …