Home / ब्रेकिंग न्यूज़ / भदोही : योगी सरकार के गड्ढा मुक्त सड़क अभियान की बारिश ने खोली पोल

भदोही : योगी सरकार के गड्ढा मुक्त सड़क अभियान की बारिश ने खोली पोल

भदोही । योगी सरकार का गांवों को 18 घंटे बिजली देने और प्रदेश को गड्ढा मुक्त सड़क देने का वादा पानी-पानी होता दिखाई दे रहा है। पहली ही बारिस में इसकी पोल खुलकर सामने आ गई है। बारिश के चलते कुछ दिन पूर्व ही बंजर की भांति सूखे पड़े तालाब, पोखरे, गांवों की बस्तियां, खेत, मैदान तथा कच्चे और पक्के रास्ते मानो ताल तलैया बन गए हों। रास्तों में जलजमाव होने के कारण लोग सोचकर भी बाहर नहीं जा पा रहे हैं वह घरों में सिमटकर रह गए हैं। और वहीं मजदूरी कर जीविकोपार्जन करने वाले मजदूरों के समक्ष भी संकट खड़ा हो गया है। धरती बारिस से सराबोर हो गई है जिसने लोगों के जीवन को अस्त-व्यस्त बना दिया है। चहुँओर जलजमाव कांवरियों के लिए भी मुसीबत पैदा कर रही है तो लोगों के जरूरी काम भी ठप गए हैं। गत दिनों से अनवरत जारी बारिस के बीच विद्युत आपूर्ति पूरी तरह चरमरा गई है, सीतामढ़ी तथा वहीदा फीडर से जुड़े सैकड़ों गांवों में गत दो दिनों से बिजली आपूर्ति नहीं हो पा रही है। बिजली ना आने से एक ओर जहां लोग सांझ को रौशनी के लिए दिए व मोमबत्ती जलाने को विवश हैं, वहीं लोगों के दैनिक जीवन में उपयोगी बन चुके टेलीविजन व मोबाइल बंद पड़े हुए हैं। लोग हैरान हैं कि यदि हल्की बारिस में बिजली गुल है तो आगे क्या होगा। निरंतर चल रही बारिस कच्चे मकानों के गिरने का कारण बन गई है। बारिस से क्षेत्र में अब तक दर्जनों से अधिक कच्चे घर व पेड़ गिर चुके हैं। रिमझिम व मुसलाधार बारिश का क्रम लगातार जारी है जिससे सड़कों पर गाड़ियों, स्कूलों में बच्चों तथा दफ्तरों में कर्मचारियों-अधिकारियों की संख्या बेहद कम हो गई है। हालांकि इससे इतर जलमग्न खेतों में ट्रैक्टर चलवा किसान धान की रोपाई में जी जान से जुटे हुए हैं। बरसात से इलाके के कई गांवों में चलने वाले कालीन बुनाई के कार्य, मकान भवन-निर्माण सहित अन्य कई कार्य ठप पड़ गए हैं। जो राजगीर मिस्त्रियों, कालीन बुनकरों व मजदूरों के लिए परेशानी का सबब बन गई है। गांव को मुख्य मार्गो से जोड़ने वाले कच्चे-पक्के पगडंडियों के ऊपर से पानी बह रहा है तो गड्ढा युक्त सड़कों पर जगह जगह पानी भर गया है। जिससे राहगीरों को आने जाने में बड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। जिले के प्रमुख मार्गों में शामिल सुरियावां-कलिंजरा मार्ग, सीतामढ़ी से धनतुलसी मार्ग पूरी कई वर्षों से दयनीय हालत में है। इस मार्गों पर से सैकड़ों जगह सड़क का अस्तित्व ही समाप्त हो गया है सड़क पर हजारों गड्ढे हैं। देखकर लगता है कि अलग अलग-अलग परिवारों के लिए अलग-अलग स्विमिंग पूल बनाई गई हो। यही नही क्षेत्र की कई छोटे बड़े सम्पर्क मार्ग पहली बारिस में ही योगी सरकार की गड्ढा युक्त सड़कें देने वाले वादे को पानी पानी करती नजर आ रही है।

About admin

Check Also

राजनैतिक प्रपंच बनकर रह गयी है मां गंगा, बोले रमाशंकर तिवारी

बलिया। महावीर घाट स्थित हनुमान मंदिर पर गंगा मुक्ति अभियान की समीक्षा बैठक रविवार को …