Home / अपराध / उप्र : पूर्वांचल में अवैध शराब सिंडीकेट का माफिया और बेटा 13 लाख के कैश संग गिरफ्तार

उप्र : पूर्वांचल में अवैध शराब सिंडीकेट का माफिया और बेटा 13 लाख के कैश संग गिरफ्तार

भदोही । उत्तर प्रदेश की भदोही पुलिस को शुक्रवार को आजमगढ़ जिले में जहरीली शराब काण्ड के बाद बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने शराब कारोबार से जुड़े एक बड़े माफिया और उसके बेटे को दबोचने में सफलता हासिल की है। आरोपी गैर कानूनी तरीके से शराब तैयार करने और उसे सेल करने का कुख्यात सिंडीकेट का गैंग  लीडर के साथ हिस्टीसीटर भी है। पुलिस ने उसके पास से 13 लाख से अधिक की नगदी से के भारी मात्रा में तैयार शराब, एक बोलेरो, केमिकल, रैपर, बोतलें और संबंधित उपकरण के साथ 17 पेटी बॉम्बे व्हिस्की बरामद किया है । पूर्वांचल के कई जिलों में उसका कारोबार फैला है। पुलिस रिकार्ड के अनुसार उस पर भदोही और आसपास के जिलों में 30 से अधिक मुकदमें दर्ज हैं। वह एसटीएफ के हाथ से भी बच निकला था। आबकारी और क्राइमब्रांच की संयुक्त टीम की छापेमारी  उसे दुर्गागंज थाने के गंगारामपुर स्थित आवास से पकड़ा गया है। पुलिस अधीक्षक सचिंद्र पटेल ने मीडिया ब्रीफ के दौरान बताया कि दुर्गागंज थाने के गंगारामपुर निवासी गुलाब जायसवाल, और उकसे बेटे अनिल जायसवाल को पुलिस टीम ने आज गिरफतार किया है। भदोही के साथ पूर्वांचल के इलाहाबाद, जौनपुर, मिर्जापुर, प्रतागढ़ और आसपास के कई जिलों में शराब के अवैध करोबार का नेटवर्क इसने फैला रखा था। पुलिस ने उसके पास से 13 लाख 10 हजार की नगदी के साथ अवैध शराब बनाने के उपकरण जिसमें 20 लीटर अलकोहल, यूरिया, होलोग्राम, रैपर, नौ बोरी ढक्कन के साथ इम्पीरियल ब्लू, 8 पीएम, रायल स्टैग, मैक्डाल जैसी विदेशी ब्रांड के नकली ढक्कन बरामद किए हैं। इसके अलावा 17 पेटी बाम्मे व्हीस्की, एक बोरी प्रतिबंधित झारखंड निर्मित शराब भी बरामद की गयी है। एसपी ने बताया इसके अलावा एक बालेरो यूपी-70 सीजे 4820 बरामद किया गया है। पुलिस अधीक्षक के अनुसार वह 30 साल से इस अवैध करोबार में लगा है। कई जिलों में यह जेल जा चुका है। वह पकड़ी गई बोलेरों से शराब की सप्लाई पूर्वांचल के जिलों में करता था। उसने बताया कि अवैध करोबार से कमाई गई दौलत वह बैंक में नहीं रखता था। क्योंकि बैंक में उस इनकम टैक्स का डर लगता था। शराब की मांग जब अधिक बढ़ जाती थी तो वह ओपी केमिकल मिलाकर नकली रैपर की ब्रांडेड शराब आपूर्ति करता था। इसके पहले भी गैंगेस्टर और संपत्ति जब्तीकरण की कार्रवाई पुलिस पहले भी कर चुकी है। इसी साल जनवरी में इलाहाबाद के सरायममरेज में एसटीएफ ने एक टक अवैध शराब पकड़ी थी ,लेकिन मौके से यह भागने में सफल रहा था। इस गिरफतारी में क्राइमब्रांच प्रभारी सत्येंद्र यादव, सचिन झा, इंदु प्रकाश गौतम, अनिरुद्ध, ओमप्रकाश यादव, सिकंदर, अनंत लाल, नरेंद्र सिंह, एसओ संजय कुमार राय और हीरालाल विश्वकर्मा ने अहम भूमिका निभाई। एसपी ने इसे पुलिस टीम का गुडवर्क बताया है। उन्होंने बातया कि अवैध शराब माफियाओं के खिलाफ यह अभियान और तेज किया जाएगा।

About admin

Check Also

ट्रेन से कटकर एक युवक की मौत

मिर्जापुर। जिले के अदलहाट थाना क्षेत्र के नरायनपुर चौकी के दर्रा गांव के सामने ट्रेन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *