Breaking News
Home / चंदौली / ‘नेता जी’ के नेतृत्व में आगे बढ़ेगा समाजवादी आंदोलन- शिवपाल यादव

‘नेता जी’ के नेतृत्व में आगे बढ़ेगा समाजवादी आंदोलन- शिवपाल यादव

चंदौली। यूपी सहकारी बैंक के सभापति और जसवंतनगर के विधायक शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि जब-जब सत्ता में समाजवादी सरकार आयी किसानों, नौजवानों, गरीबों व यतीमों का भला किया। सत्ता में आने के बाद नेता जी ने अपने शासनकाल की शुरुआत गांव व किसान से की। किसानों को समय पर खाद, पानी, बीज व बिजली दिया। पिछली सपा सरकार ने प्रदेश के बड़े-बड़े पुल के निर्माण का तोहफा दिया। नए रास्तों का निर्माण का लोगों को विकास की राह दिखाई। राजस्व संहिता लागू कर लोगों को लाभ पहुंचाया। उक्त बातें श्री यादव ने शुक्रवार को सकलडीहा स्थित राधा कृष्ण महिला महाविद्यालय परिसर में आयोजित गोवर्धन पूजा समारोह में बतौर मुख्य अतिथि कही। उन्होंने कहा कि समाजवादी विचारधारा को उच्च शिखर प्रदान करने के लिए ‘नेता जी’ का नेतृत्व व उनका सम्मान होना चाहिए। विधानसभा चुनाव के दौरान गलती किसने की, यह सभी लोग जानते हैं। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने चापलुसों व चुगलखोरों के चक्कर में फंसकर पार्टी को बर्बाद करने का काम किया है। पुराने समाजवादियों ने संघर्ष, त्याग व बलिदान के बूते सपा को आज इस मुकाम पर पहुंचाया है, लेकिन इनके योगदान को पार्टी में सम्मान नहीं मिल पा रहा है। कहा कि अखिलेश यादव को मुलायम सिंह यादव ने मुख्यमंत्री बनाया और इतनी जिम्मेदारी भरा पद दिया। अब ‘नेता जी’ के नेतृत्व में समाजवादी आंदोलन को आगे बढ़ाया जाएगा। फिर से सरकार बनाकर प्रदेश के किसानों, नौजवानों व आमजन की अगुवाई में विकास कार्य होंगे। कहा कि भगवान श्रीकृष्ण को अपने मामा कंस से ही खतरा था। उन्होंने जब कंस का संहार किया तो सत्ता पर काबिज होने की बजाय राज्य का नेतृत्व कंस के पिता को सौंप दिया। वहीं भगवान श्रीराम ने अपने पिता के वचन का मन रखने के लिए 14 वर्ष का वनवास काटा। इस दौरान सीता हरण के बाद उन्हें वियोग में भी रहना पड़ा। सत्ता-शासन के लिए कौरवों व पांडवों के बीच महाभारत हुआ, जिसमें भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन का मार्गदर्शन करते हुए उन्हें सही व गलत का ज्ञान कराया। यदि श्रीकृष्ण नहीं होने से पांडवों की पराजय हो जाती। कहा कि संकट की घड़ी में इंसान को धैर्य बनाए रखना चाहिए। विपत्ति को देखकर कभी भी हिम्मत नहीं हारनी चाहिए। इस मौके पर सपा नेता धरमवीर सिंह, ज्ञानेन्द्र यादव ज्ञानू, सेचन सिंह यादव, हरिदास यादव, ग्राम प्रधान सुरेन्द्र यादव, सुधीर सिंह, डा.सूबेदार सिंह, चन्द्रमा यादव, रीबू श्रीवास्तव, बहादूर यादव, छात्रसंघ अध्यक्ष पुत्तुल यादव, गायत्री यादव, राधा यादव, चन्द्रशेखर यादव, अशोक यादव, गुलाब गोंड, पारस यादव, दिनेश यादव, सुशील गुड्डु, अशोक यादव, उमाशंकर यादव, बैजनाथ, हरिनाथ यादव आदि मौजूद रहे।

शिवपाल के कार्यक्रम नहीं दिखे दिग्गज सपाई

नागेपुर गांव में आयोजित गोवर्धन पूजा में शरीक होने आए शिवपाल सिंह यादव के कार्यक्रम में जिले का कोई भी बड़ा दिग्गज सपाई नहीं दिखा। इस दौरान न तो पूर्व सांसद रामकिशुन व उनके कुनबे का कोई सदस्य सभा स्थल पर मौजूद रहा। इसके अलावा सपा जिलाध्यक्ष सत्यनारायण राजभर समेत सपा के फ्रंटल संगठन का कोई भी पदाधिकारी मौजूद नहीं था। सभा में बड़े नेताओं की अनुपस्थिति आयोजक स्थल पर चर्चा की विषय रहा। लोगों की माने तो पार्टी व परिवार में मचे घमासान के बाद पार्टी से जुड़े लोग खेमेबंदी से बचने का प्रयास कर रहा है, वही वजह रही कि सपा के कद्दावर नेता शिवपाल सिंह यादव के कार्यक्रम से दूरी बनाए रखी।

 

 

 

 

About admin

Check Also

हस्त नक्षत्र में 21 सितंबर से शुरू होगा शारदीय नवरात्र, कलश स्थापना श्रेष्ठ मुहूर्त सुबह 6:29 से 7:47 बजे तक

लखनऊ। पितृपक्ष के बाद शारदीय नवरात्र इस बार 21 सितंबर से शुरु होगी। इस बार नवरात्र …