Home / ब्रेकिंग न्यूज़ / विधानसभा में दिनभर चला पूछताछ व सीसी कैमरा फुटेज खंगालने का कार्य

विधानसभा में दिनभर चला पूछताछ व सीसी कैमरा फुटेज खंगालने का कार्य

 

लखनऊ । विधानसभा में विस्फोटक मिलने की घटना के बाद शानिवार को पूरे भवन का छावनी में तब्दील कर दिया गया। एटीएस की टीमें चप्पे चप्पे पर साक्ष्य जुटाने में लगी  रही। फायर विभाग ने विधानभवन के माक ड्रिल किया। सुरक्षा इंतेजामों को परखने के लिये रविवार को एटीएस माक ड्रिल करेगी। शनिवार को जांच के दौरान एटीएस की टीम ने विधानसभा से संबंधित कुल 15 अधिकारियों और कर्मचारियों से पूछताछ की। यह वही कर्मचारी है जो विस्फोटक बरामदगी के समय मौके पर उपस्थित थे या ड्यूटी पर तैनात थे। सभी के बयान को दर्ज किया गया है। जिन लोगों से पूछताछ की गयी है, उसमे विधानसभा के एक असिस्टेंट मार्शल, 4 इंजीनियर, बीडीएस और डॉग स्क्वायड में तैनात दो सुरक्षाकर्मियों, एक आपरेटर और सात चतुर्थ श्रेणी कर्मियों से पूछताछ की गयी। इसके अलावा एटीएस ने परिसर में लगे कुल 23 कैमरों का फुटेज कब्जे में लिया है। इसमें विधानभवन परिसर के 12 कैमरे, भवन मंडल के 6 कैमरे, सदन में सत्ता और विपक्ष के सदस्यों के आवागमन गेट पर लगे दोनों कैमरे और सदन के अंदर लगे दूरदर्शन के तीन कैमरों की फुटेज और रिकार्डिग शामिल है। एटीएस सभी फुटेज को खंगाल रही है। कर्मचारियों के बयान दर्ज करने के लिये एटीएस के एसएसपी उमेश कुमार श्रीवास्तव, डिप्टी एसपी प्रभाकर चौधरी, डीके पूरी और अभय नारायण शुक्ला को लगाया गया था। एटीएस के आईजी असीम अरुण ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर एटीएस के अधिकारियों द्वारा विधानसभा भवन परिसर के भीतर चाक चौबंद सुरक्षा व्यवस्था के लिये  सुरक्षा संबंधित कवायद किया गया। रविवार को एटीएस द्वारा अन्य सुरक्षा एजेंसियों के साथ विधानसभा परिसर में माकड्रिल कर सुरक्षा व्यवस्था को और अधिक पुख्ता करने के भरपूर प्रयास किया जायेगा ताकि भविष्य में किसी प्रकार की सुरक्षा संबंधित चूक न हो सकें। इसके अलावा प्रमुख सचिव गृह अरविन्द कुमार और डीजीपी सुलखान सिंह ने भी विधानभवन जा कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। इसी क्रम में सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर गेट नंबर 7 पर बुलेट प्रूफ संत्री द्वार स्थापित किया गया है, सभी गोटे पर आतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि सचिवालय सुरक्षा दल के साथ मिलकर एक सुरक्षा की नई व्यवस्था का खाका तैयार किया जा रहा है। अब विधानसभा के पुराने पास से परिसर में प्रवेश नहीं हो पाएगा। विधानभवन परिसर में 109 सीसीटीवी कैमरों को पूरी तरह से चालू कर दिया गया है। इसके अलावा बूम बैरियर और सुरक्षा के अन्य अत्याधुनिक प्रबंध किए जा रहे हैं। विधानभवन परिसर में शुक्रवार रात भी एक पैकेट में संदिग्ध पाउडर बरामद हुआ। द्वितीय तल पर नोटिस बोर्ड के पास मिले पाउडर को एटीएस ने अपने कब्जे में लेकर जांच के लिये उसे लैब भेज दिया है। विधासभा मे विस्फोटक मिलने के बाद शुक्रवार देर रात तक एटीएस और अन्य जांच एजेन्सी भवन की तलाशी रही थी तभी दूसरे तल पर उन्हें पैकेट में संदिग्ध पाउडर मिला। आईजी एटीएस असीम अरुण ने बताया कि पैकेट में मैगनिशियम सल्फेट नामक पदार्थ पाया गया जो कि पैकिंग के काम में आता है। पैकिंग पदार्थ में इसे ड्राइंग एजेन्ट के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। जिसे कब्जे में ले कर जांच के लिये भेज दिया गया है। पैकेट पर जून 2006 लिखा हुआ है।

About admin

Check Also

ट्रेन से कटकर एक युवक की मौत

मिर्जापुर। जिले के अदलहाट थाना क्षेत्र के नरायनपुर चौकी के दर्रा गांव के सामने ट्रेन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *