Breaking News
Home / चंदौली / अभ्यर्थियों ने की 2016 के शिक्षक भर्ती से रोक हटाने की मांग

अभ्यर्थियों ने की 2016 के शिक्षक भर्ती से रोक हटाने की मांग

चंदौली। 2016 के शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में शामिल अभ्यर्थियों का एक प्रतिनिधिमंडल सोमवार को सैयदराजा विधायक सुशील सिंह से उनके बिछियां स्थित कार्यालय पर मिला। इस दौरान अभ्यर्थियों ने प्रदेश के परिषदीय विद्यालयों में अचानक एक लाख से अधिक शिक्षकों के पद रिक्त होने की दशा में वर्ष 2016 में शुरू हुई शिक्षक भर्ती प्रक्रिया पर लगी रोक हटाने की मांग की। कहा कि भर्ती प्रक्रिया को गति देते हुए काउंसलिंग प्रक्रिया में शामिल 12460 सहायक अध्यापकों को नियुक्ति पत्र जारी किया जाए। अंत में उन्होंने मुख्यमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन विधायक को सौंपा। इस मौके पर वक्ताओं ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा गत 25 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट द्वारा शिक्षामित्रों का सहायक अध्यापक पद पर समायोजन रद्द किए जाने का फैसला आने के बाद परिषदीय विद्यालयों में एक लाख से अधिक सहायक शिक्षकों के पद रिक्त हो गए हैं। ऐसे में विद्यालयों में पठन-पाठन कार्य पर प्रभावित हो रहा है, जिसे देखते हुए वर्ष 2016 में परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में 12460 सहायक अध्यापक की भर्ती का शासनादेश जारी किया गया था, जिसकी प्रथम काउंसलिंग पूर्ण कर ली गयी थी, जिन्हें सिर्फ नियुक्त पत्र वितरित किया जाना शेष है। उक्त भर्ती को समीक्षा हेतु अग्रिम आदेश तक रोक लगा दी गयी थी। परिषदीय विद्यालयों में शिक्षकों की कमी को देखते हुए सहायक अध्यापक भर्ती पर लगी रोक हटाते हुए बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा मेरिट के आधार पर पारदर्शी ढंग से आगे बढ़ाया जाए। आलम यह है कि अभ्यर्थी भर्ती से रोक हटाने के लिए 17 जुलाई से लखनऊ के लक्ष्मण मेला मैदान पर शांतिपूर्ण ढंग से अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हुए हैं। मांग किया कि हमारी समस्याओं को शासन तक पहुंचाकर तत्काल भर्ती को बहाल करते हुए अभ्यर्थियों में नियुक्त पत्र वितरित किया जाए। इस मौके पर संजीव कुमार सिंह, अभिषेक आनन्द, अजीत चौरसिया, अंजना कुमारी, रविन्द्र यादव, शैलेन्द्र, संजय कुमार सिंह आदि उपस्थित रहे।

 

About admin

Check Also

मंत्री ने दिये कटानरोधी कार्य के जांच का आदेश

बैरिया, बलिया। बाढ़ एवं कटान से प्रभावित दूबेछपरा में करोड़ों की लागत से हुए कटानरोधी …