Breaking News
Home / अपराध / चंदौली: दो महिलाओं की चोटी कटने से क्षेत्र में दहशत

चंदौली: दो महिलाओं की चोटी कटने से क्षेत्र में दहशत

शहाबगंज। थाना क्षेत्र के भूसीकृतपुरवां गांव में मंगलवार की रात चन्द्रकला देवी तथा इन्दा देवी नामक महिला की चोटी कटने की घटना से क्षेत्र में दहशत का माहौल है। चोटी कटने की जानकारी महिलाओं को तब हुई जब वो बुधवार की सुबह सोकर उठी। चोटी कटा देख महिलाएं बेसुध हो गयी। परिजनों ने 108 नम्बर पर फोन करके महिलाओं को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर भर्ती कराया, जहां महिलाओं का इलाज चल रहा है। पुलिस ने इस घटना को मात्र एक अफवाह करार दिया है। वहीं चिकित्सकों ने महिलाओं को बुखार होने की बात कही है। परिजनों के अनुसार दोनो महिलाएं घर में सो गयी। रात्रि एक बजे के करीब चन्द्रकला देवी जो अपने मौसी रमावती देवी के घर आयी थी की नींद खुली तो अपनी चोटी कटी देख दंग रह गयी तथा बेसुध हो गयी। परिजनों ने १०८ नम्बर फोन करके स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर भर्ती कराया। इधर इलाज चल ही रहा था कि चार बजे भोर में इन्दा देवी जो उसी घर में सोई थी उसकी भी चोटी कट गयी। चोटी कटी देख इन्दा देवी भी बेहोश हो गयी। परिजनों ने उसे भी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया। जहां दोनों का इलाज चल रहा है।इस सम्बंध में प्रभारी चिकित्साधिकारी  डा. ज्ञान प्रकाश सिंह ने कहा कि दोनों महिलाओं को मामूली बुखार है। थाना प्रभारी अरविंद सिंह सिसोदिया ने कहा कि चोटी कटने की घटना मात्र अफवाह है। कहा कि अफवाह फैलाने वालों को किसी भी कीमत पर छोड़ा नहीं जायेगा। उन्होंने अफवाहों से लोगों को बचने का आह्वान किया।

 

चोटी कटने की घटना के बाद ग्रामीणों में दहशत

धानापुर। चोटी कटवा की घटना इतनी तेजी से पांव पसार रही है कि एक प्रदेश से दूसरे प्रदेश तक पहुंचनें में तनिक भी देर नहीं लग रही है। सच तो यह है कि बुद्धजीवी वर्ग जहॉ इस घटना को अफवाहों के नजरीऐ से देखी जा रही है। ऐसी ही एक घटना क्षेत्र के प्रभातपुर में एक बिन्द परिवार में घटी। जहां बुधवार को तड़के लगभग चार बजे जब रामकृत बिन्द की छोटी बहू की नींद खुली तो चोटी के कुछ बाल हाथ में आ गयी। जिसे देखनें के बाद वह घबरा गयी और परिवार को बाल दिखाते हुए घटना के बारे में अवगत करायी। घटना के बाद ग्रामीणों की भीड़ मौके पर जूट गयी और लोगों के बीच तरह-तरह की चर्चाएं होनें लगी। मुखिया रामकृत बिन्द नें बताया कि मंगलवार की रात में भोजन के बाद सबसे छोटी बहू अपनें छोटे बच्चे के साथ कमरे में सोनें चली गयी और पुरा परिवार मेरे साथ कमरे के बाहर चारपाई पर सो गया। उधर बहू नें कहा कि अचानक मेरे कान में जोर का दर्द उठा और ज्यों ही मेरा हाथ कान के पास पहुंचा कि बाल हाथ में आ गयी। फिर सिर में तेज का दर्द होनें लगी। इस घटना के पीछे राज क्या है कि जिसे हर कोई जाननें के लिए बेताब है। दरअसल पीड़ित भी कुछ समझ पानें में असमर्थ है।

 

About admin

Check Also

बलिया पहुंची एनएचएआई टीम… जल्द बनेगा फ्लाईओवर

बलिया। माल्देपुर से कदम चौराहा तक प्रस्तावित फ्लाईओवर के निर्माण का रास्ता धीरे-धीरे साफ हो …