Home / अपराध / एपेक्स हास्पिटल पर ग्राम सभा की जमीन हड़पने का आरोप, डीएम ने दिया जांच का आदेश

एपेक्स हास्पिटल पर ग्राम सभा की जमीन हड़पने का आरोप, डीएम ने दिया जांच का आदेश

वाराणसी। नर्सिंग कालेज चला कर छात्र-छात्राओं का शोषण करने के आरोपों से घिरे एपेक्स अस्पताल के निदेशक डा. संतोष सिंह एस नये विवाद में फंसते नजर आ रहे हैं। आरटीआई एक्टिविस्ट सुनील दुबे की माने तो डा. संतोष का नाम भू माफियाओ की सूची में होना चाहिये। प्रमुख सचिव राजस्व डा. रजनीश दूबे से मिल कर सुनील दुबे ने करोडो की ग्राम समाज की जमीन पर डा. संतोष सिंह द्वारा धोखे से अपनी पत्नी के नाम रजिस्ट्री कराने का आरोप लगाया। प्रमुख सचिव ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए सभी कागजात को देखने के बाद डीएम योगेस्वर राम मिश्र को जांच कराने का आदेश दिया। सुनील दुबे ने बताया कि उन्होंने चितईपुर बाईपास मौजूद जमींन की जानकारी आरटीआई से माँगी थी। जिसके बाद पता चला की डॉ संतोष सिंह ने बसपा नेता मनीष सिंह से परती की जमीन की रजिस्ट्री अपने पत्नी डॉ कृष्णा पटेल के नाम करा लिया है। यही नहीं संतोष सिंह और मनीष सिंह ने दबंगई के दम पर इस करोडो की जमीन पर कब्जा भी कर लिया है। सुनील दुबे ने बताया कि कुल पांच बिस्वा जमीन लबे रोड पर है जिसकी कीमत करोडो में है। उन्होंने बताया कि पिछले कई सालों से इस जमीन के लिए अधिकारियो से शिकायत कर रहे है लेकिन डा. संतोष अपने रसूख से फाइल को दबवा देते हैं। सुनील प्रमुख सचिव से कहा कि नई सरकार के आने के बाद उन्हें फिर से उमीद जगी है कि योगी सरकार ऐसे दबंग लोगो के चंगुल से सरकार की जमीन को वापस लिया जायेगा। शासन-सत्ता में डा. संतोष की पहुंच का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि उनके खिलाफ पहले भी कई मामले दर्ज हो चुके हैं लेकिन कार्रवाई किसी में नहीं हुई। छेड़खानी, दुष्कर्म प्रयास जैसी संगीन धाराओं के तहत मामले दर्ज होने पर भी पुलिस विवेचना का वास्ता देकर कार्रवाई से कतराती रही है। देखना है कि इस मामले में प्रशासन क्या रूख अख्तियार करता है।

About admin

Check Also

मिर्जापुर: धोखाधड़ी करके 140 बीघा सरकारी जमीन हड़पने के मामले में सात पर एफआईआर

मड़िहान (मिर्जापुर )। स्थानीय थाना क्षेत्र के बभनी थपनवा गांव की  ग्राम सभा की 140 …