Breaking News
Home / ब्रेकिंग न्यूज़ / लखनऊ: पुरूष प्रधान देश में महिलाओं को भी मिलना चाहिए बराबरी का सम्मान- ओमप्रकाश राजभर

लखनऊ: पुरूष प्रधान देश में महिलाओं को भी मिलना चाहिए बराबरी का सम्मान- ओमप्रकाश राजभर

लखनऊ। सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी द्वारा आयोजित प्रदेश स्तरीय महिला पदाधिकारियों की बैठक स्थान कामन हाल ए ब्लॉक दारुलसफा में बैठक संपन्न हुई। बैठक को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग कैबिनेट मंत्री माननीय ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि ज्ञान की रोशनी में जीने वाली महिलाएं दूसरे की नेकी के मार्ग पर चलने को प्रेरित करती हैं। इनका सुंदर व्यवहार दूसरों के घरों में प्रेम व शांति का वातावरण पैदा करता है। श्री राजभर ने कहा कि पुरुष प्रधान देश में महिलाओं को बराबरी का सम्मान मिलना चाहिए। महिलाओं की समानता से घर परिवार की खुशहाली है, किसी प्रदेश या देश की तरक्की की कल्पना 50% आबादी को प्रेषित कर के नहीं सोची जा सकती। विशिष्ट अतिथि महिला मंच की राष्ट्रीय अध्यक्ष तारामनी राजभर राजभर ने कहा कि देश की तरक्की तभी संभव है। जब महिलाएं आगे बढ़कर पुरुषों के साथ संगठित होकर कार्य करें, क्योंकि आज आजादी के 70 वर्षों के बाद भी महिलाओं को अपने अधिकारों का ज्ञान नहीं हो पाया है जिसका सबसे बड़ा कारण उनकी अशिक्षा है। महिला मंच की प्रदेश अध्यक्ष मनीषा सिंह ने कहा कि महिलाओं को रोजगार परक शिक्षा दिलाए जाने की आवश्यकता है। ताकि प्रदेश सरकार के तरफ से कौन सी सरकारी  योजना उनके काम आएगी । कौन सा फार्म योजना का भरा जाना है उसे किससे प्रमाणित करके योजना का लाभ मिलना है। इसकी जानकारी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी स्तरीय महिला बैठक करके यह जानकारी दी यह एक सराहनीय कार्य है महिला मंच की प्रदेश उपाध्यक्ष मानती राजभर ने कहा कि प्रदेश से आई सभी महिलाओं को आहवाहन  किया गया। महिला संगठन को जिला/विधानसभा/ब्लाक/बूथ कमेटी गठित करने की आवश्यकता है ताकि महिलाओं के अधिकार की लड़ाई मंजिल तक पहुंचाई जा सके। आज आवश्यकता है बिना महिलाओं को बिना शिक्षित किए समाज का भला नहीं हो सकता। महिला मंच प्रदेश उपाध्यक्ष श्रीमती शिल्पी पटेल ने कहा कि स्नात्कोत्तर तक मुफ्त अनिवार्य शिक्षा लागू हो क्योंकि लड़कियां पढ़ती हैं तो दो परिवार सुधरता है, लड़के पढ़ते हैं तो एक परिवार सुधरता है जब तक लड़की है अपने मायके रहती है तो मायके को सुधारती है। जब वह ससुराल जाती है तो वहां उस परिवार को सुधारती हैं इस नाते महिलाओं को शिक्षा का स्तर बढ़ाने के लिए स्नातकोतर तक मुफ्त और अनिवार्य शिक्षा की आवश्यकता है। महिला मंच प्रदेश प्रमुख महासचिव राधिका वर्मा ने कहा कि आज महिलाएं ट्रेन से हवाई जहाज तक चलाने का काम कर रहे हैं। किसी भी काम में महिलाएं पीछे नहीं हैं अपने बच्चे की परवरिश से लेकर हर काम करने में सक्षम है। इनको नौकरी में 50% भागीदारी सुनिश्चित किया जाए। नौकरी में 50% आरक्षण की भागीदारी हो महिला मंच प्रदेश सचिव शिवकुमारी पासवान ने कहा कि प्रदेश में बहन बेटियां सुरक्षित नहीं है, नारी सशक्तिकरण के युग में प्रतिदिन नारी उत्पीड़न व बलात्कार की घटनाओं की खबर अखबार में भरे रहता है। महिला मंच यूथ प्रदेश अध्यक्ष शशि कला राजभर ने कहा के लोकसभा विधानसभा में पंचायत चुनाव की तर्ज पर आरक्षण नीति लागू हो और महिलाओं को शत प्रतिशत सुरक्षा मुहैया कराई जाए। ताकि महिलाएं अपने पैरों के ऊपर खड़ी हो सके। बैठक में मुख्य रुप से राष्ट्रीय प्रमुख महासचिव अरविंद राजभर,राष्ट्रीय महासचिव अरुण राजभर,राधिका वर्मा, गीता राजभर, निर्मला राजभर, फुलमती राजभर, सरस्वती राजभर, बेहतरीन राजभर, विमला राजभर, लक्ष्मी राजभर, मिलन कुशवाहा, सुभावती देवी, कांति राजा, राजा राजभर, रमिता सिंह, प्रीति सिंह, आशा राजभर, मीरा राजभर, मनप्रीत कौर आदि उपस्थित रही।

About admin

Check Also

बलिया पहुंची एनएचएआई टीम… जल्द बनेगा फ्लाईओवर

बलिया। माल्देपुर से कदम चौराहा तक प्रस्तावित फ्लाईओवर के निर्माण का रास्ता धीरे-धीरे साफ हो …