Breaking News
Home / बनारस / वाराणसी: 11वीं पुण्यतिथि पर उस्ताद बिस्मिल्ला खान के मजार पर अर्पित किये गये पुष्प

वाराणसी: 11वीं पुण्यतिथि पर उस्ताद बिस्मिल्ला खान के मजार पर अर्पित किये गये पुष्प

वाराणसी। सिगरा फातमान के भीतर शिया बाडे में उस्ताद बिस्मिल्ला खान के मजार पर उनके घर के सदस्यों ने आज ग्यारहवीं पुण्य तिथि मनाया जिसमें आज वाराणसी पिंडरा के पूर्व विधायक अजय राय एवं वाराणसी आईजीभी मौजूद रहें। दोनों ने अपने हाथों से बिस्मिल्ला खान के मजार पर श्रद्धा सुमन अर्पित किया। बाद में वाराणसी एसएसपी आरके भारद्वाज भी पहुंचे और उन्होंने ने भी बिस्मिल्ला खान के मजार पर श्रद्धासुमन अर्पित किया। बिस्मिल्ला खान के मजार पर उनके छोटे लड़के जामीन हुसैन खान, बड़ी लड़की जरीना बेगम एवं उनके सगे दामाद उस्ताद अली अब्बास खान आदि। लोगों ने शांति एवं एहतराम के साथ बिस्मिल्ला खान के ग्यारहवीं पुण्यितिथि को मनाया। वहीं अंजुमन के लोगों ने बिस्मिल्ला खान के मजार पर कुरआन खानी और सुरेह फातिया पढा। तथा रंजन दिवेदी ने उस्ताद की पुण्यऔतिथि पर गणेश वन्दना व सरस्वती वन्दना पढा साथ ही उन्होंने शहनाई वादक उस्ताद बिस्मिल्ला खान को सबका गुरु बताया। बिस्मिल्ला खान का जन्म 21 मार्च 1916 में बिहार के डुमराव नामक स्थान पर हुआ था। बिस्मिल्ला खान विश्व के सर्वश्रेष्ठ शहनाई वादक माने जाते थे। उनके परदादा शहनाई नवाज उस्ताद सलार हुसैन खान यह परिवार पिछले पांच पिढीयों से शहनाई वादक का प्रतिपादक रहा है। बिस्मिल्ला खान को उनके चाचा अली बकश “विलायतु” ने संगीत शिक्षा दी। जो बनारस के पवित्र विश्वनाथ मंदिर में अधिकृत शहनाई वादक थे। बिस्मिल्ला खान ने बजरी, चैती और, झूला जैसी लोकधुनो में बाजे को अपनी तपस्या और रियाज से खूब सवारा और क्लासिकल मौसिकी में शहनाई को सम्मानजनक स्थान दिलाया। बिस्मिल्ला खान ने संगीतग के रूप में जो कुछ कमाया था वो या तो लोगों की मदद में खर्च हो गया या फिर अपने बड़े परिवार के भरण-पोषण में। एक समय ऐसा आया जब वो आर्थिक रूप से मुश्किल में आ गए थे। तब सरकार को उनकी मदद के लिए आगे आना पड़ा था। उन्होंने ने अपने अंतिम दिनों में दिल्ली के इंडिया गेट पर शहनाई बजाने की इच्छा व्यक्त की थी। लेकिन उस्ताद बिस्मिल्ला खान की यह इच्छा पूरी ना हो पाई। 21 अगस्त 2016 को 90 वर्ष की आयु में इनका देहावसान हो गया।

About admin

Check Also

बलिया पहुंची एनएचएआई टीम… जल्द बनेगा फ्लाईओवर

बलिया। माल्देपुर से कदम चौराहा तक प्रस्तावित फ्लाईओवर के निर्माण का रास्ता धीरे-धीरे साफ हो …