Home / न्यूज़ बुलेटिन / ममत्व की प्रतिमूर्ति थी युवा तुर्क की धर्मपत्नी दूजा देवी

ममत्व की प्रतिमूर्ति थी युवा तुर्क की धर्मपत्नी दूजा देवी

 

बलिया। ममत्व की प्रतिमूर्ति पूर्व प्रधानमंत्री चन्द्रशेखर की धर्मपत्नी दूजा देवी की 20वीं पुण्यतिथि मंगलवार को मनायी गई। इस दौरान पूर्व प्रधानमंत्री चन्द्रशेखर एवं सांसद नीरज शेखर के समर्थकों ने दूजा देवी के चित्र पर माल्यार्पण कर जिला अस्पताल में मरीजों को फल व दूध वितरण किया।

चन्द्रशेखर नगर स्थित झोपड़ी पर सबसे पहले प्रार्थना सभा हुई। उपस्थित लोगों ने जहां दूजा देवी के चित्र पर पुष्प अर्पित किया, वहीं पूर्व प्रधानमंत्री के जीवन में इनकी उपयोगिता को बताया। कहा कि दूजा देवी सादगी और ममत्व की प्रतिमूर्ति थी। वह एक आदर्श भारतीय महिला थी। सीएमएस डा. एसपी राय, अमित, बब्बू सिंह, किशन प्रताप सिंह, केडी सिंह, अदालत, विक्की गुप्त, सीताराम सिंह, घनश्याम सिंह, लालजी, आनंद चौधरी, राहुल सिंह आदि मौजूद रहे। इसी क्रम में दूजा देवी पीजी कालेज सहतवार में दूजा देवी की पुण्यतिथि मनायी गई। अनिरूद्ध सिंह, डॉ. पंकज सिंह, उमाशंकर सिंह, डॉ. प्रशांत सिंह, हस्तराज सिंह, अरूण शुक्ल, गुलाब चन्द्र पाल, डा. जेपी सिंह, बीपी सिंह, मणि बहादुर सिंह, अवधेश त्रिपाठी, ओमप्रकाश सिंह, अशोक पाल, अंकिता सिंह, पूजा सिंह, अनूप गुप्त, लालबचन यादव, उमा यादव, शशि जी आदि मौजूद रहे। संचालन केशव सिंह ने किया।

About admin

Check Also

बलिया के 326 प्राइमरी स्कूलों में अब पढ़ेंगे किसान

बलिया। उत्तर प्रदेश शासन की तरफ से किसानों की आय को दोगुना करने के लिए …