Breaking News
Home / ग़ाज़ीपुर / शिक्षा समन्वयकों ने किया लाठी चार्ज की निंदा

शिक्षा समन्वयकों ने किया लाठी चार्ज की निंदा

बाराचंवर। लखनऊ से लौटने के बाद जनपद के सभी जिला समन्वयकों, ब्लाक समन्वयकों और ब्लाक अध्यक्षों की एक आवश्यक बैठक मोहनपुरवा स्थित साक्षरता कार्यालय पर हुई। बैठक में सभी ने एक स्वर से कल लखनऊ में हुई पुलिस की बर्बरता और सरकार की उपेक्षा की निंदा की। बैठक की अध्यक्षता करते हुये साक्षरता वेलफेयर एसोसियेशन के जिला संयोजक कृपा शंकर राय ने कहा की पिछले जून में विधानसभा चुनाओं से पहले देश के गृहमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह ने साक्षरता कर्मियों की रैली बुलाकर आश्वासन दिया था कि अगर सूबे में हमारी सरकार बनती है तो हम प्रेरकों और समन्वयकों को सम्मानजनक मानदेय के साथ उनकी सभी मांगों पर सार्थक पहल करते हुये उन्हें स्थायित्व देने की दिशा में पहल करेंगे।इसके बाद तीन सालों से बिना मानदेय के काम कर रहे सूबे के लाखों प्रेरकों को एक आशा की किरण दिखाई दी और सबने बढ़-चढ़कर प्रदेश में भाजपा को प्रचण्ड बहुमत दिलाने में मदद की।लेकिन सरकार बनते ही हमेशा की तरह ही राजनाथ सिंह के वादे भी जुमले में बदल गये और साक्षरता कर्मियों की मांगों के प्रति मौजूदा सरकार भी मुंह मोड़कर कुंभकर्णी नींद में सो गयी। सरकार को जगाने और अपने किये वादे को याद दिलाने के लिये लक्ष्मण झूला पार्क में 10 जुलाई से ही बेमियादी अनशन का कार्यक्रम शुरू हुआ।लेकिन सरकार की ओर से कोई भी सार्थक पहल नजर नहीं आयी।इससे आक्रोशित होकर सूबे के सभी साक्षरता कर्मियों ने शिक्षक दिवस के मौके पर विधानसभा घेरने के लिये शांतिपूर्वक मार्च निकाला।लेकिन अपने बहुमत के नशे में चूर योगी सरकार को यह नागवार गुजरा और बर्लिंगटन चौराहे पर सभी साक्षरता कर्मियों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा गया।पुलिस वालों ने गोद में अपने दूधमुंहे बच्चों को लेकर आयी महिला साक्षरता कर्मियों को भी नहीं छोड़ा और पीटकर दो दर्जन से अधिक लोगों को घायल कर दिया। बैठक में बोलते हुये डा० महेन्द्र प्रसाद ने कहा कि अपनी मांगों के लिये लोकतांत्रिक तरीके से मार्च कर रहे साक्षरता कर्मियों के उपर पुलिस की लाठीचार्ज की जितनी भी निंदा की जाय वह कम है।इसलिये हम मांग करते हैं कि सरकार लाठीचार्ज करने वाले पुलिस बलों की पहचान कर उन्हें दण्डित करे अन्यथा सभी साक्षरता कर्मी जेल भरो आन्दोलन करने के लिये बाध्य होंगे। बैठक में जुटे सभी साक्षरता कर्मियों ने बकाया मानदेय भुगतान न होने तक आगामी साक्षरता परीक्षा के बहिष्कार करने का प्रस्ताव रखा।इस प्रस्ताव को प्रदेश संगठन के सामने रखा जायेगा तथा वहां से सहमति मिलने के बाद पूरे देश में हर साल होने वाली साक्षरता परीक्षा का बहिष्कार किया जायेगा। बैठक में सभी ब्लाक अध्यक्षों के साथ जिला समन्वयक संतोष, अरुण तथा ब्लाक समन्वयक सुरेन्द्र यादव, अन्नू राय, गौतम सिंह, अभिषेक मौर्या, रविन्द्र श्रीवास्तव, सुनिल सिंह, सतीश पाण्डेय, जमीला अंसारी, संतोष कुशवाहा, परशुराम गुप्ता, डा० महेन्द्र प्रसाद सहित सभी ब्लाक समन्वयक उपस्थित रहे। बैठक की अध्यक्षता कृपाशंकर राय तथा संचालन अभिषेक राय ने किया।

About admin

Check Also

जो कहता हूं वह करता हूं, सिकन्दरपुर को बनाऊंगा नगर पालिका: संजय जायसवाल

बलिया। नगर पंचायत सिकंदरपुर से अध्यक्ष पद के निर्दल प्रत्याशी संजय जायसवाल ने नगर के …