Breaking News
Home / न्यूज़ बुलेटिन / अधिशासी अभियंता को नहीं मालूम गांववार कितने ट्रांसफार्मर लगे

अधिशासी अभियंता को नहीं मालूम गांववार कितने ट्रांसफार्मर लगे

मिर्जापुर। जिलाधिकारी बिमल कुमार दूबे ने सेामवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिले के विकास योजनाओ के प्रगति व कर-करेत्तर व राजस्व वसूली के संबंध में अधिकारियों के साथ बैठक कर समीक्षा की। इस दौरान बिजली विभाग के प्रगति की समीक्षा के दौरान किस गांव में कितने ट्रांसफार्मर लगाये गये है तथा प्रति ट्रांसफार्मर औसत कितने कनेक्शन लगाये है की जानकारी करने पर अधिशासी अभियंता जानकारी नही दे पाये जिस पर जिलाधिकारी ने कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए निर्देशित किया। प्रति ट्रांसफार्मरों की गांववार सूची व प्रति ट्रांसफार्मर कनेक्शन के स्तर के बारे में जानकारी तीन दिन में उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। इस दौरान जनकूपों तथा बीपीएल कनेक्शन में भी प्रगति लाने का निर्देश दिया गया। उन्होने कहा कि जो जनकूप बनकर तैयार हो गये है उनमें तत्काल कनेक्शन की कार्यवाही की जाय। इसी प्रकार स्वच्छता मिशन की समीक्षा के दौरान जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देशित किया गया कि गंगा किनारे गांवों में शौचालयों का निर्माण किसी भी दशा में 15 सितम्बर तक पूर्ण कराया जाय। अन्यथा संबंधित अधिकारी व कर्मचारी को दोषी मानते हुए कड़ी कार्यवाही की जायेगी। इसी प्रकार नगरीय क्षेत्र में शौचालयों का लक्ष्य परूा करने का निर्देश सभी ईओ को दिया गया। बताया गया नगर पालिका कछवां में 600 लक्ष्य के सापेक्ष सभी पूर्ण करा लिये गये है। उन्होने कहा कि फोटो अपलोडिंग का कार्य भी समय से पूरा कराया जाय। डीसी मनरेगा को निर्देशित किया गया कि समूहों के गठन में तेजी लाकर लक्ष्य पूर्ति की जाय। आंगनबाड़ी केन्द्रो व अन्य भवनों के निर्माण के संबंध में कहा भूमि की उपलब्धता न होने के कारण यदि निर्माण अनारम्भ होता है तो उस धनराशि को वापस किया जाय। आईजीआरएसके माध्यम से प्राप्त शिकायतों के निस्तारण न किये जाने पर लघु सिंचाई के अधिशासी अभियंता को प्रतिकूल प्रविष्टि देने का निर्देश दिया। अधिशासी अभियंता सेतु निगम को निर्देशित किया कि भटौली तथा चुनार पुल को मार्च तक पूर्ण कराना सुनिश्चित करें। बैठक में गढ्डा मुक्त सड़कों के बारे में भी जानकारी ली गई। जिलाधिकारी ने आबकारी अधिकारी को निर्देशित किया कि गंगा के कछार वाले क्षेत्रो में अभियान चलाकर अवैध शराब बनाने वाले के विरूद्ध कार्यवाही करे। इसी प्रकार एआरटी, मनोरंजन कर, वाणिज्य कर, विद्युत देय, स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन सहित अन्य विभागों की वसूली की समीक्षा की गई तथा राजस्व वसूली गांववार लक्ष्य पूरा करने का निर्देश दिया गया। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी प्रियंका निरंजन, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 उमेश यादव, परियोजना निदेशक डा0 हरिचरन सिंह, जिला विकास अधिकारी मनोज राय, एलडीएम, अपर मुख्य अधिकारी विन्ध्याचल सिंह कुशवाहा, विकलांग कल्याण अधिकारी दिव्या शुक्ला के अलावा अन्य सभी संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

 

 

About admin

Check Also

बलिया में बालू लदे चार ट्रैक्टर ‘सीज’

बलिया। दोकटी थाना क्षेत्र के शिवपुर गंगा तट से गुरुवार को पुलिस ने लाल बालू …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *