Breaking News
Home / चंदौली / सृष्टि के सृजनकर्ता को लोगों ने श्रद्धापूर्वक पूजा

सृष्टि के सृजनकर्ता को लोगों ने श्रद्धापूर्वक पूजा

चंदौली। सृजन एवं निर्माण के देवता भगवान विश्वकर्मा की पूजा रविवार को जनपद में धूमधाम से हुई। इस दौरान विभिन्न औद्योगिक संस्थानों के साथ ही कल-कारखानों में भगवान विश्वकर्मा पूजे गए। इसके अतिरिक्त कुछ लोगों ने अपने आवास व प्रतिष्ठान पर भी सृष्टि के सृजनकर्ता भगवान विश्वकर्मा की पूजा पूरे विधि-विधान के साथ की। इस दौरान जगह-जगह पंडालों में भगवान विश्वकर्मा की प्रतिमाएं स्थापित किए गए थे, जहां देर रात तक भक्ति व सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन हुआ। जिला मुख्यालय पर चन्दौली रेलवे स्टेशन परिसर में रेल कर्मचारियों ने भगवान विश्वकर्मा की प्रतिमा स्थापित कर विधिवत पूजन-अर्चन किया गया। इस दौरान आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम में कलाकारों के बीच बिरहा मुकाबला हुआ। इस दौरान बिरहे का लुत्फ उठाने के लिए भारी तादात में लोग रेलवे स्टेशन परिसर में जमा थे। आलम यह था कि प्लेटफार्म संख्या एक व दो के अलावा स्टेशन को जाने वाले रास्तों पर लोग खड़े होकर बिरहा मुकाबले का आनन्द उठाया। भगवान विश्वकर्मा की पूजा-अर्चना के बाद वहां मौजूद लोगों में प्रसाद का वितरण किया गया। विश्वकर्मा पूजा को लेकर लोगों में इस कदर था कि श्रमिक सुबह अपने प्रतिष्ठान व कारखानों की साफ-सफाई की और औजारों को साफ-सुथरा के साथ-साथ भगवान विश्वकर्मा की प्रतिष्ठा व चित्र स्थापित किए। वहीं कुछ स्थानों पर पंडालों को भव्य रूप देने में लोग जुटे रहे। सकलडीहा प्रतिनिधि के अनुसारः विद्युत उपकेन्द्र पर रविवार को विश्वकर्मा पूजा के दौरान विद्युत कर्मियों ने विधि विधान से पूजा अर्चन किया। इस दौरान विद्युत कर्मियों की ओर से प्रसाद व भजन-कीर्तन का आयोजन किया गया। वही विद्युत कर्मियों के साथ आल इंडिया यूनाईटेड विश्कर्मा शिल्पकार महासंघ की ओर से भव्य कार्यक्रम का आयोजन व जयकारा लगाया गया। इस मौके पर आल इंडिया यूनाईटेड विश्कर्मा शिल्पकार महासंघ के जिला सचिव राजेश विश्वकर्मा, सुनील कुमार, प्रवीण कुमार, बाबूराम यादव, रामअवध,श्याम अवध, चन्द्रप्रकाश पांडेय, रामदेव, झूरी, राजनाथ राजभर, विपिन, राम निवास सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

 

 

 

About admin

Check Also

संदिग्ध परिस्थिति में वृद्ध की मौत

चकिया। नगर के सहदुल्लापुर स्थित भारत गैस एजेंसी के पास बैठे एक वृद्ध की  बुधवार …