Breaking News
Home / बलिया / तिरंगे में लिपटे शहीद पिता के शव को मासूम ने दी मुखाग्नि… सिसकने लगी ‘धरा’ व ‘घाघरा’

तिरंगे में लिपटे शहीद पिता के शव को मासूम ने दी मुखाग्नि… सिसकने लगी ‘धरा’ व ‘घाघरा’

बिल्थरारोड, बलिया। पाकिस्तान-मुर्दाबाद, हिन्दुस्तान-जिन्दावाद, शेरे बलिया जिन्दाबाद, जब तक सूरज चांद रहेगा-आरपी यादव तेरा नाम रहेगा, भारत माता की जय…। गगन भेदी उद्घोष के साथ शहीद रामप्रवेश यादव का पार्थिव शरीर शनिवार को गुलौरा मठिया शिव स्थान पर घाघरा नदी के किनारे पंचतत्व में विलीन हो गया। शहीद पिता को सात वर्षीय बेटे आयुष ने मुखाग्नि दी। अबोध बालक को मुखाग्नि देते वक्त घाघरा किनारे का वातावरण गमगीन हो उठा। वहां उपस्थित आम जन की बात कौन करें, धरा व घाघरा भी सिसकने लगी।

जम्मू कश्मीर के रामबन के बनिहाल पोस्ट पर तैनात उभांव थाना क्षेत्र के टंगुनिया गांव निवासी रामप्रवेश यादव के शहीद होने से पूरा जनपद मर्माहत है। दो दिनों पूर्व मिली सूचना के बाद चारो तरफ करुण क्रंदन सुनाई दे रहा था। शहीद का पार्थिव शरीर शनिवार की सुबह जैसे ही पैतृक गांव पहुंचा, क्षेत्र में कोहराम मच गया। अपने लाल का अंतिम दर्शन को जनसैलाब उमड़ पड़ा। उपस्थित सभी की आंखें नम थी। परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल था। शहीद रामप्रवेश के पिता लालबचन यादव, मां विद्यावती देवी व पत्नी चिंता देवी की चीत्कार सुन हर किसी के आंखों से अश्रुधारा बह रही थी। शहीद के मासूम लड़के आयुष 7 वर्ष व पियूष 4 वर्ष इस बात से अंजान थे कि उनके सिर से पिता का साया उठ चुका है। वे कभी भीड़ को अपलक निहार रहे थे तो कभी मम्मी व दादी को चुप कराने के साथ-साथ रोने लग जा रहे थे। मासूमों की आंखों में आंसू देख लोगो का कलेजा हिल जा रहा था। शहीद के अंतिम दर्शन के लिए हजारों की संख्या में लोगो का हुजूम घर से लेकर अंत्योष्टि स्थल तक उमड़ पड़ा था। सड़क के किनारे पुरुष महिलायें, बच्चे सुबह से ही अपने लाल के अंतिम दर्शन को खड़े थे। अंत्येष्ठि स्थल के लिए जैसे ही शहीद का शव निकला, पूरा गांव दहाड़े मार कर रो पड़ा। अंतिम यात्रा में शामिल लोग हिंदुस्तान जिंदाबाद और पाकिस्तान मुर्दाबाद तथा रामप्रवेश अमर रहे का नारा लगा रहे थे। गांव से 4 किलोमीटर दूर गुलौरा मठिया स्थित शिव मन्दिर के समीप घाघरा नदी के तट पर पूरे सैनिक सम्मान के साथ सीमा सुरक्षा बल के अधिकारियों के साथ जिले के डीएम व एसपी तथा जनप्रतिनिधियों द्वारा गार्ड आफ आनर देते हुए जवान का अंतिम संस्कार किया गया। एससबी के कमाण्डेन्ट मुकेश कुमार, उप कमाण्डेन्ट नवीन कुमार राय, जिलाअधिकारी सुरेन्द्र विक्रम, एसपी अनिल कुमार, प्रदेश सरकार के मंत्री उपेन्द्र तिवारी, सांसद रविन्द्र कुशवाहा, सांसद हरिनारायण राजभर, विधायक धन्नजय कन्नौजिया, सिकन्दरपुर विधायक संजय यादव, पूर्व विधायक गोरख पासवान, पूर्व सपा जिलाध्यक्ष आद्याशंकर यादव इत्यादि उपस्थित रहे।

 

शहीद के परिजनों को मंत्री ने दिये 25 लाख का चेक

प्रदेश सरकार के प्रतिनिधि के रूप में पहुंचे मंत्री उपेंद्र तिवारी ने शहीद के परिजनों से मिलकर शोक संवेदना व्यक्त की। इसके साथ ही शासन की तरफ से घोषित सहायता राशि के रूप में मंत्री ने शहीद की पत्नी चिंता देवी को 20 लाख व पिता लालबचन यादव को पांच लाख रुपये का चेक दिया। मंत्री ने शहीद का घर व शौचालय बनवाने के लिए जिलाधिकारी को निर्देशित किया, जिस पर जिलाधिकारी ने रविवार से ही कार्य शुरू कराने का भरोसा दिया।

 

एसएसबी कमांडेंट ने दिए 8 लाख का चेक, 38 हजार नकद

शहीद जवान रामप्रवेश यादव के पार्थिव के साथ पहुंचे एसएसबी कमांडेंट मुकेश कुमार व उप कमांडेंट नवीन कुमार राय ने जवान की पत्नी चिंता देवी को अंत्येष्टि आदि के लिये 38 हजार रुपये नकद दी। साथ ही केंद्र सरकार की तरफ से मिले 8 लाख रुपये का चेक भी सौंपा। कहा कि कागजी कार्यवाही के बाद एससबी के तरफ से मिलने वाली सभी सहायता राशि एक माह के अंदर दे दी जाएगी। पत्नी को आश्वासन दिया कि उसे कैंटीन इत्यादि की सुविधाये भी मुहैया कराई जाएगी।

 

शहीद की अंतिम विदाई में शामिल हुए राज्यमंत्री

आतंकी हमले में शहीद टंगुनिया गांव निवासी रामप्रवेश यादव का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार गुलौरा मठिया शिवमंदिर घाट पर किया गया। प्रदेश के मंत्री उपेन्द्र तिवारी शहीद की अंतिम यात्रा में सम्मिलित हुए। उन्होंने शहीद के शव पर पुष्पचक्र अर्पित कर भावभीनी श्रद्घान्जलि अर्पित की। अमर शहीद के शव को कंधा भी दिया। कहा कि शहीद के जाने का गम है तो शहादत पर गर्व भी है। इस संकट की घड़ी में सरकार शहीद के परिवार के साथ है। जहां भी जरूरत होगी सरकार हर संभव सहयोग के लिए तत्पर रहेगी।

About admin

Check Also

इंद्र ने फोड़ा ‘बम’, हिल गये पटाखा कारोबारी

बलिया। दीपावली को लेकर पटाखा व्यापारी काफी खुश थे। रामलीला मैदान में उनकी दुकानें सजी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *