Breaking News
Home / चर्चा में / चर्चित मन्ना सिंह दोहरे हत्याकांड में बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी बरी

चर्चित मन्ना सिंह दोहरे हत्याकांड में बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी बरी

मऊ/गाजीपुर। आज से 8 साल पहले शहर के चर्चित ठेकेदार मन्ना सिंह व उनके साथी राजेश राय हत्याकांड की गोली मारकर हत्या कर देने के मामले में बुद्धवार को फास्ट ट्रैक कोर्ट के न्यायाधीश आदिल आफताब अहमद की अदालत द्वारा बुद्धवार को फैसला सुनाया गया। फैसले के संदर्भ में मुख्‍तार के चचेरे भाई मंसून अंसारी ने बताया कि माननीय न्‍यायालय ने इस हत्‍याकांड में विधायक मुख्‍तार अंसारी सहित आठ लोगों को बरी कर दिया है तथा तीन लोगों को इस मुकदमे में दोषी पाया है। जिसकी सजा न्‍यायालय एक-दो दिन में सुनायेगी। मुख्‍तार अंसारी के साथ राकेश पांडेय, अनुज कन्‍नौजिया, उमेश सिंह, रजनीश सिंह, कल्‍लू सिंह, पंकज सिंह को न्‍यायालय ने बाईज्‍जत बरी कर दिया है। जबकि इस मुकदमे में अरविंद, जामवंत और अमरेश को दोषी पाया है। उन्‍होने कहा कि आज का दिन साजिश करने वालों की शिकस्‍त का दिन है। बुनकर, गरीब, मजलूम, बुजुर्ग के दुवाओं के बदौलत मऊ विधायक मुख्‍तार अंसारी को कोर्ट में बाईज्‍जत बरी कर दिया। आज हर आने-जाने वाले व्यक्तियों की सघन तलाशी कर अंदर जाने की व्यवस्था की गई है सुरक्षा की दृष्टि से दीवानी गेट के मुख्य द्वार पर मेटल डिटेक्टर तथा सीसीटीवी कैमरे के भी इंतजामात किए गए थे। बताते चलें कि चर्चित ठेकेदार मन्ना सिंह व उसके साथी राजेश राय की 29 अगस्त सन 9 को नगर कोतवाली क्षेत्र के नरई बांध स्थित यूनियन बैंक की शाखा के पास मोटरसाइकिल सवार हमलावरों द्वारा गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। वादी मुकदमा हरेंद्र सिंह की तहरीर पर कोतवाली नगर में मऊ के सदर विधायक मुख्तार अंसारी हनुमान पांडे पंकज रामू मल्लाह उपेंद्र रजनीश संतोष उमेश अनुज अरविंद तथा अमरेश आदि को आरोपित बनाया गया। बाद विवेचना आरोपपत्र न्यायालय प्रेषित किया गया। 8 साल तक चली सुनवाई के दौरान कुल 22 गवाह में से 17 गवाह जिनमें वादी मुकदमा हरेंद्र सिंह अमरजीत सिंह शब्बीर शाह उर्फ़ राजा पीयूष सिंह जगदीश सिंह मंजू सिंह बब्बन राजभर कांस्टेबल हीरामन डॉक्टर गिरीश चंद्र डॉक्टर एम एस कुमार नगर कोतवाल जे पी तिवारी कोतवाल वाईपी सिंह मंगरू सिंह डॉक्टर एपी गुप्ता चंद्रशेखर सिंह कोतवाल आर बी तिवारी SI गौरी शंकर सिंह को न्यायालय में पेश किया गया करीब 8 साल तक चली सुनवाई के बाद न्यायालय ने पत्रावली को मुकम्मल मानते हुए दोनों पक्षों के अधिवक्‍ताओं के बहस सुनने के बाद 22 तारीख को इस मुकदमे का फैसला सुनाने का निर्णय लिया गया था। लेकिन माननीय न्यायाधीश ने 27 तारीख को फैसला सुनाने का आदेश दे दिया था जिसके तहत आज फैसला आया है।

About admin

Check Also

भाईचारे व स्नेह-प्रेम का संदेश देती है रामलीला- विधायक सुशील सिंह

सैयदराजा। नगर में चल रहे रामलीला मंचन के समापन उत्सव जीटी रोड स्थित सरकारी अस्पताल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *