Breaking News
Home / ग़ाज़ीपुर / निर्माणाधीन 200 बेड का अस्पताल जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों और फाईलों के बीच उलझा

निर्माणाधीन 200 बेड का अस्पताल जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों और फाईलों के बीच उलझा

गाजीपुर। करोड़ों की लागत से गोराबाजार में निर्माणाधीन 200 बेड़ों का अस्‍पताल जनप्रतिनिधि, शासन, फाइल और अधिकारियों के बीच उलझ गया है। इस अस्‍पताल के अभाव में शहर के मध्‍य पुराने अस्‍पताल में मरीजों को जमीन सुलाकर इलाज किया जा रहा है। लगभग पांच वर्ष पहले समाजवादी सरकार के धर्मार्थ कार्य राज्‍य मंत्री विजय मिश्रा ने इस अस्‍पताल का भूमि पूजन कर निर्माण शुरु कराया था। अस्‍पताल निर्माण की कार्यदायी संस्‍था निर्माण निगम है। भूमि पूजन के अवसर पर पूर्व मंत्री विजय मिश्रा ने कहा था कि मैं अपने कार्यकाल में ही इसका लोकार्पण करुंगा। समय बीतता गया। सपा सरकार के अंतिम समय में पूर्व मंत्री विजय मिश्रा ने अधूरे अस्‍पताल का उद्घाटन भी कर दिया और उस समय वादा किया कि चुनाव बाद पुराना अस्‍पताल नये अस्‍पताल में शि‍फ्ट हो जायेगा। चुनाव बाद भाजपा की सरकार का कार्यकाल छह माह बीत गया लेकिन मामला जश का तश बना रहा। कार्यदायी संस्‍था निर्माण निगम बजट के अभाव में इस अस्‍पताल का निर्माण कछुएं की गति से कर रही है। रेल राज्‍य मंत्री मनोज सिन्‍हा ने विगत माह महिला अस्‍पताल के नये भवन के उद्घाटन के समय यह वादा किया था कि एक माह के अंदर नये भवन गोराबाजार में सरकारी अस्‍पताल शिफ्ट हो जायेगा। रेल राज्‍य मंत्री का भी निर्धारित समय समाप्‍त हो गया। जिला अस्‍पतला आज भी पुराने अस्‍पताल में चल रहा है और जनपदवासियों को इलाज कराने में भारी कठिनाई हो रही है। इस संदर्भ में मुख्‍य चिकित्‍साधिकारी बीसी मौर्या ने बताया कि आज ही निर्माण निगम के अधिकारियों के साथ जिलाधिकारी के बालाजी, सीएमएस ने नये भवन का निरीक्षण किया। निरीक्षण के बाद निर्माण निगम के अधिकारियों ने जिलाधिकारी से यह वादा किया कि अक्‍टूबर माह के अंत तक मुख्‍य भवन पूरा हो जायेगा। इस संदर्भ में निर्माण निगम के एई विनोद यादव ने बताया कि गोराबाजार में 200 बेडों का अस्पताल 34 करोड़ 47 लाख की लागत से बन रहा है। बजट के अभाव मे निर्माण कार्य प्रभावित हो रहा है। हमने शासन से लगभग 12 करोड़ रुपयों का डिमांड किया है। यह पैसा आने पर अस्‍पताल शीघ्र ही पूरा बनकर तैयार हो जायेगा। अस्‍पताल का मुख्य भवन अक्‍टूबर के अंत तक तैयार हो जायेगा।

About admin

Check Also

हत्या का विरोध: पत्रकारों ने निकाला मौन जुलूस, कहा जिस सरकार में पत्रकार व साहित्यकार सुरक्षित नही उसमे कानून व्यवस्था की बात करना बेकार

गाजीपुर। पत्रकार एसोसिएशन के आह्वान पर सोमवार को पत्रकार राजेश मिश्रा के हत्‍याकांड के विरोध …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *