Breaking News
Home / चंदौली / चंदौली: पीड़ित किसानों को प्रशासन ने दिया धोखा
????????????????????????????????????

चंदौली: पीड़ित किसानों को प्रशासन ने दिया धोखा

चंदौली। रेल फ्रेट कारिडोर से प्रभावित किसानों का अनिश्चितकालीन भूख-हड़ताल गुरुवार को दूसरे दिन जारी रहा। इस दौरान किसानों ने उचित मुआवजे की मांग को दोहराया। आरोप लगाया कि जिला प्रशासन लगातार उनकी मांगों को अनसुना कर रहा है, जो सीधे तौर पर किसानों की उपेक्षा है। जिसे अब किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। किसानों ने मुआवजे संग परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की मांग की।

इस मौके पर वक्ताओं ने कहा कि रेलवे व जिला प्रशासन ने किसानों को लालच देकर धोखा देने का काम किया है। किसानों परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने व उचित मुआवजा देने की बात कही गयी थी, लेकिन ऐसा आज तक नहीं हो सका। अपर जिलाधिकारी ने किसानों की आपत्तियों का निस्तारण करते हुए बीते वर्ष आठ नवंबर को सर्किल रेट व बाजार रेट से अधिक मुआवजा व प्रत्येक प्रभावित परिवार में एक सदस्य को नौकरी दिए जाने का आदेश जारी किया था। इससे सहमत होकर किसानों ने काम शुरू करने की बात स्वीकारी। किन्तु किसानों को धोखा देते हुए बीते 21 जून को किसान हितकारी आदेश को पलट दिया गया, जिस पर किसान जिलाधिकारी से मिलकर वार्ता करना चाहे, लेकिन जिला प्रशासन तैयार नहीं हुआ। ऐसी स्थिति में मजबूत होकर किसानों को अनिश्चितकालीन भूख-हड़ताल पर बैठना पड़ रहा है। इस मौके पर अनिल पासवान, शशिकांत सिंह, मिठाई लाल बिन्द, कृष्णा राय, आशुतोष, श्यामपति राम, बचानू राम, संजय यादव, जुगनू, दिनेश सिंह आदि उपस्थित रहे। अध्यक्षता उमाशंकर व संचालन सुरेंद्र ने किया।

 

About admin

Check Also

नपा कार्यालय बलिया का मकड़जाल तोड़ना आसान नहीं!

बलिया। नगर पालिका परिषद बलिया के अध्यक्ष के रूप में 12 दिसम्बर को अपनी नई …