Breaking News
Home / अपराध / बलिया में तोड़फोड़ व आगजनी, डीएम-एसपी ने संभाला मोर्चा, चौकी इंचार्ज सस्पेंड

बलिया में तोड़फोड़ व आगजनी, डीएम-एसपी ने संभाला मोर्चा, चौकी इंचार्ज सस्पेंड

बलिया। गड़वार थाना क्षेत्र के रतसर कस्बे में मंगलवार की शाम हुआ मामूली विवाद बुधवार को बड़ा रूप ले लिया। कुछ आराजक तत्वों ने माहौल को खराब कर न सिर्फ बाजार में लूटपाट व उत्पात किया, बल्कि चार दुकानों को आग के हवाले भी कर दिया। इस दौरान कहीं भी पुलिस प्रशासन का अता-पता नहीं था। जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक के साथ पहुंची भारी फोर्स ने बवालियो पर काबू पाया। करीब पांच दर्जन लोगो को हिरासत में ले लिया गया। इस मामले में एसपी ने रतसर पुलिस चौकी प्रभारी को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया।

लोगो की माने तो घटना की पट कथा मंगलवार को ही लिख गई थी। शाम को एक पक्ष के अरविंद राजभर (17) पुत्र लक्ष्मण राजभर साइकिल से रतसर गांव स्थित पंचायत भवन के तरफ जा रहा था। उसी समय सामने से आ रहे दुसरे पक्ष के रानू पुत्र नन्हे खान की बाइक से टक्कर हो गयी। इससे दोनों लोगो को चोटे आयी। इसको लेकर दोनों लोगों में तकझक होने लगा। एक पक्ष का आरोप है कि दूसरे पक्ष के लोगो ने उसी विवाद को लेकर अरविन्द राजभर की जमकर पिटाई कर दी। इसके चलते वह घायल हो गया। रात में परिजनों द्वारा घटना की सूचना पुलिस चौकी में दी गयी, लेकिन पुलिस कुछ कार्यवाही करने की वजाय घायल अरविन्द को इलाज के लिए जिला अस्पताल भेजवा दी। बुधवार को अरविन्द की तबीयत और बिगड़ गयी, जबकि पुलिस कार्रवाई से बचती रही। इससे नाराज लोगों ने दोपहर 12 बजे रतसर गांधी आश्रम चौराहे पर घायल अरविन्द को लेटाकर जाम लगाने के साथ ही दूसरे पक्ष के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। प्रदर्शनकारियों की मांग थी कि उच्च स्तरीय अधिकारियों को बुलाया जाय, लेकिन दो घण्टे बीत जाने के बाद भी कोई उच्च अधिकारी व अन्य फोर्स नहीं पहुंची। इसी बीच, कुछ लोगों ने एक पक्ष की दुकानों को निशाना बनाते हुए चौराहे पर तोड़फोड़ व लूटपाट की। उसके बाद बीच बाजार में स्थित एक पक्ष के लोगों की दुकानों में आग लगा दिये। उसके थोड़ी देर बाद चौकी इंचार्ज कुछ सिपाहियों को लेकर मौके पर पहुंचे। हालांकि भारी भीड़ देखते हुए वापस हो गये। करीब दो बजे भारी फोर्स के साथ जिलाधिकारी सुरेंद्र विक्रम व पुलिस कप्तान अनिल कुमार मौके पर पहुंचे। उसके बाद उपद्रवियों पर काबू पाया गया। आग से जल रही दुकानों को फायर ब्रिगेड की गाड़ियों द्वारा बुझाया गया। समाचार लिखे जाने तक पूरे कस्बे में सन्नाटा पसरा रहा। मौके पर जिलाधिकारी व पुलिस कप्तान भारी मात्रा में फोर्स तैनात है।

 

पुलिस छावनी बना रतसर, राजनीतिक दलों के लोगों का प्रवेश वर्जित

बलिया। गड़वार थाना क्षेत्र के रतसर कस्बे में बुधवार को दो पक्षों के बीच हुए विवाद को जिलाधिकारी सुरेंद्र विक्रम, एसपी अनिल कुमार, एएसपी विजयपाल सिंह की तत्परता से शांत करा दिया गया। पुलिस ने कस्बे में फ्लैग मार्च के साथ ही करीब डेढ़ दर्जन लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया, जबकि पांच दर्जन लोग हिरासत में लिये गये। कस्बे में पुलिस एवं प्रशासनिक अमला की चहलकदमी से स्थिति पूरी तरह शांत रही। दूर-दूर तक उपद्रवियों का अता पता नहीं था। डीएम-एसपी कस्बे में भ्रमण करते हुए हर गतिविधियों पर नजर रखे रहे।

जिलाधिकारी ने स्पष्ट किया कि इस विवाद में किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई है और न ही कोई घायल है। उपद्रव करने वाले लोगों को चिन्हित किया जा रहा है। अब तक 15 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उपद्रव के दोषी लोगों पर एनएसए व गैगेस्टर के तहत कार्रवाई की तैयारी है। कस्बे में पूरी शांति है लेकिन एहतियात के तौर पर भारी मात्रा में फोर्स तैनात कर दी गयी है। इस विवाद को कोई हवा नहीं देने पाये, इसके लिए जिला प्रशासन ने राजनीतिक दलों के लोगों का प्रवेश पूरी तरह वर्जित कर दिया है। सोशल मीडिया से लगायत हर गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है। इस बीच रतसर चौकी ईंचार्ज सुरेंद्र नाथ सिंह को प्रथम दृष्टया लापरवाही बरतने के कारण सस्पेंड कर दिया गया है।

About admin

Check Also

अजय कुमार के समर्थन में उतरी महिलाएं

बलिया। बलिया नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष पद के निर्दल प्रत्याशी अजय कुमार समाजसेवी के …