Breaking News
Home / अपराध / नौगढ़ के धुसुरिया पहाड़ी पर मिला तीन किलो का बम

नौगढ़ के धुसुरिया पहाड़ी पर मिला तीन किलो का बम

नौगढ़। थाना क्षेत्र धुसुरिया पहाड़ी वन क्षेत्र में गुरुवार को तीन किलो का बम मिलने से जनपद सहित प्रांतीय सीमा से सटे जिलों में सनसनी फैल गयी। वन विभाग द्वारा बम मिलने की सूचना के बाद पूरे जिले का सुरक्षा तंत्र सतर्क हो गया। मौके पर सीआरपीएफ 148 बटालियन समेत नौगढ़ थाना सहित भारी संख्या में पुलिस बल एलआईयू दस्ता व बम निरोधक टीम पहाड़़ी पर जुट गयी। बम निरोधक दस्ते ने टिफिन में बंद विस्फोटक को निष्क्रिय करने का प्रयास किया, लेकिन नाकाम होने पर वे उक्त बम को अपने साथ ले गए। इस घटना से जहां पहाड़ों पर निवास करने वाले लोगों में खौफ है, वहीं पुलिस महकमा भी नक्सलियों की हालत की आशंका से चिंतित नजर आ रहा है।
वन विभाग के कर्मचारी गुरुवार जंगल में रूटीन गश्त कर रहे थे, वे राजदरी प्रपात के रास्ते होते हुए धुसुरिया पहाड़ी क्षेत्र की ओर आगे बढ़े जंगल में उन्हें पत्थरों पर कुछ संदिग्ध वस्तु दिखी। पास जाकर देखा तो वहां कागज में लिपटा हुआ करीब तीन किलोग्राम का बम रखा मिला पाया। यह देख वन कर्मियों के होश उड़ गए। उन्होंने तत्काल इसकी सूचना स्थानीय थाने और सीआरपीएफ की 148वीं बटालिय चन्द्रप्रभा कैम्प के इंस्पेक्टर विनोद कुमार सिंह को दी। पहाड़ों पर बम मिलने की सूचना के बाद जिले के सभी सुरक्षा तंत्र सक्रिय हो गए। एसपी संतोष कुमार सिंह पूरे दल-बल के जंगल पहुंचे। वहां बम निरोधक दस्ते द्वारा टिफिननुमा स्टील के बर्तन में बंद तारों से लिपटे बम को निष्क्रिय करने का काफी प्रयास किया गया, लेकिन उन्हें कामयाबी नहीं मिली। इसके बाद बम निरोधक दस्ते ने शाम के वक्त बम को सुरक्षित कर अपने पास ले गए। इस घटना की चर्चा पूरे पहाड़ी क्षेत्र पर रही। वनवासियों समेत पहाड़ों पर निवास करने वाले लोग इसे नक्सलियों आगमन से जोड़कर देख रहे थे, वहीं सुरक्षा तंत्र भी प्रथम दृष्टता नक्सली मूवमेंट को लेकर आशंकित है। फिलहाल पहाड़ों पर सतर्कता व सुरक्षा बढ़ा दी गयी है, वहीं जनपदीय व प्रांतीय सीमाओं की निरागनी भी कड़ी कर दी गयी। जनपद समेत पड़ोसी राज्य बिहार से इस घटना की सूचना साझा की गयी है, ताकि वे अपने स्तर से सुरक्षा घेरे को मजबूत बना सकें। वहीं सोनभद्र जिले की पुलिस भी एलर्ट नजर आ रही है।
दहशतः 13 वर्ष बाद लोगों में दिखा नक्सलियों का खौफ
थाना क्षेत्र के धुसुरिया पहाड़ी पर बम मिलने की सूचना जैसे ही रिहायशी इलाकों में पहुंची लोग नक्सलियों की आहट से भयभीत हो उठे। पहाड़ों पर भय का ऐसा माहौल 13 वर्ष बाद दोबारा देखने को मिला। पुलिस, सीआरपीएफ समेत अन्य सुरक्षा एजेंसियां शांति व्यवस्था को बनाए रखने के लिए भले ही सतर्कता दिखा रही हो, लेकिन लोगों के अंदर जो डर था वह बम मिलने की घटना से फिर से ताजा हो गया है।
नौगढ़ के लोग गुरुवार को 13 वर्ष पूर्व की उस घटना के दृष्टांत को याद कर सिहर गए, जिसमें नक्सलियों ने हिनौत घाट के पास 20 नवंबर 2004 को नक्सलियों द्वारा बम से पीएसी की ट्रक को उड़ा दिया गया था। उक्त घटना में पुलिस व पीएसी के 17 जवान हताहत हुए थे। उक्त घटना के बाद नक्सली मूवमेंट नौगढ़ जंगल से मानो प्रवास कर गयी हो। हालांकि पुलिस व सीआरपीएफ के जवानों द्वारा एक रूटीन के तहत जंगलों व पहाड़ों पर बसे रिहायशी इलाकों में सर्च आपरेशन और गश्त किया जाता है, ताकि नक्सलियों की किसी भी प्रकार की मूवमेंट न होने पाए। इन तमाम कवायदों के बाद भी जिस तरह धुसुरिया पहाड़ी क्षेत्र में तीन किलो का भारी भरकम बम कागज में लिपटा हुआ पाया गया। वह अपने आप में कई सवाल खड़े करता है। जाहिर सी बात है कि बम यदि नौगढ़ के जंगलों तक पहुंचा तो उसे किसी नापाक इरादे से ही वहां लाया होगा। संयोग अच्छा रहा कि वन कर्मियों की नजर बम पर पड़ी और पूरा प्रकरण पुलिस व सुरक्षा तंत्र की राडार पर आ गया। अब देखना यह है कि इतने भारी भरकम बम मिलने के बाद पुलिस पहाड़ों पर सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता करने व नक्सली गतिविधियों को रोकने के लिए किस तरह की रणनीति बनाती है। फिलहाल लोग डरे व सहमे हुए हैं।
मुकुट संग आरोपी को पुलिस नें भेजी जेल

कस्बा में नरौली मोड़ के समीप से बुद्धवार की शाम लगभग 4 बजे गश्त लगा रही पुलिस नें एक युवक को संदिग्ध हालत में देखते ही रोक लिया। जहॉ तलाशी के दौरान उसके पास से 240 ग्राम की एक चॉदी की मुकुट बरामद हुई। जो पुछताछ के दौरान पता चला कि गंगा प्रताप उर्फ पप्पु सिंह पुत्र कैलास सिंह अपनें ही गॉव बिरना में राम जानकी मंदिर से हनुमान जी की मुकुट को चोरी कर धानापुर बाजार में बिक्री करनें हेतु लेकर आया था। पुलिस नें बरामद चोरी की मुकुट के साथ ही आरोपी युवक को जेल भेज दिया। मिली जानकारी के अनुसार पिछले मंगलवार को बिरना में राम जानकी मंदिर से हनुमान जी की चॉदी की मुकुट चोरी हो गयी थी। वहीं ग्रामीणों नें मुकुट चोरी जानें की घटना की जानकारी पुलिस को दे दी थी। सुत्रों से सुचना मिलते ही पुलिस नें सरगर्मी के साथ आरोपी युवक की तलाश जारी कर धर दबोचा। इस संबंध में थानाध्यक्ष एके सिंह नें कहा कि पुलिस के शक की सुई उक्त युवक पर पहले ही घुम गयी थी।

About admin

Check Also

कौमी एकता सप्ताह के दौरान मदरसे ने निकाला जुलूस

चकिया। कौमी एकता सप्ताह के अन्तर्गत बुधवार को पुरानी चकिया स्थित मदरसा मसदरूल ओलूम असदकिया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *