Breaking News
Home / न्यूज़ प्लस / बलिया संसदीय क्षेत्र: भाजपा-सपा के लिए कठिन डगर!

बलिया संसदीय क्षेत्र: भाजपा-सपा के लिए कठिन डगर!

बलिया। निकाय चुनाव का परिणाम बहुत कुछ संदेश दे गया है। इसको लेकर राजनीतिक गलियारे में काफी हलचल है। कही वर्तमान पर चर्चाएं तो कही भविष्य (मिशन-2019) की बातें हो रही है। बलिया संसदीय क्षेत्र में बलिया नगर पालिका, बैरिया नगर पंचायत व चितबड़ागांव नगर पंचायत के अलावा गाजीपुर जनपद की नगर पालिका  मुहम्‍मदाबाद व नगर पंचायत बहादुरगंज शामिल है। इन सीटों पर निकाय चुनाव में भाजपा की जीत पक्की मानी जा रही थी, क्योंकि बलिया संसदीय क्षेत्र पर फिलहाल भाजपा का ही वर्चस्व है। इस संसदीय सीट पर न सिर्फ  सांसद भरत सिंह भाजपा के है, बल्कि निर्वाचित विधायक भी चार है। वही, जहूराबाद से भाजपा के सहयोगी दल सुभासपा का कब्जा है। इसमें फेफना से भाजपा विधायक उपेन्द्र तिवारी व जहूराबाद से  सुभासपा के विधायक ओमप्रकाश राजभर प्रदेश की योगी सरकार में मंत्री भी है। हालांकि निकाय चुनाव में भाजपा-सुभासपा में गठबंधन नहीं था। उधर, सपा से राज्यसभा सांसद नीरज शेखर भी अपने पार्टी प्रत्याशियों को जीत दिलाने के लिए प्रयासरत रहे। सब मिलाकर यहां की दो नगर पालिका व तीन नगर पंचायतों को जीतने के लिए भाजपा व सपा ने काफी होमवर्क किया था, लेकिन परिणाम पूरी तरह उलट आया। यहां पांच में भाजपा की झोली में महज एक सीट (बैरिया नगर पंचायत से शांति देवी) आयी, जबकि सपा की बोहनी तक नहीं हो सकी। वही, बसपा ने तीन सीटों पर कब्जा कर राजनीतिक भूचाल उठा दी। नगर पालिका मुहम्‍मदाबाद से बसपा प्रत्याशी शमीम अहमद, नगर पंचायत बहादुरगंज में बसपा की निकहत परवीन व नगर पंचायत चितबड़ागांव में बसपा प्रत्याशी केशरी नंदन त्रिपाठी ने कब्जा जमाया। वहीं, नगर पालिका परिषद बलिया में निर्दल प्रत्याशी अजय कुमार समाजसेवी का डंका बजा है। राजनीतिक पंडितों की माने तो भाजपा व सपा को ऐसे परिणाम की उम्मींद नहीं थी। इस पर उन्हें चिन्तन करना होगा।

 

About admin

Check Also

मिर्जापुर: दस मृतक श्रद्धालुओं को मुख्यमंत्री राहत कोष से ढाई-ढाई लाख रूपये व घायलों को मिलेंगे 25 हजार रूपये

मडिहान ( मिर्जापुर )। जिले के मड़िहान थाना क्षेत्र में ट्रक और ट्रैक्टर की सोमवार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *