Breaking News
Home / न्यूज़ बुलेटिन / पूर्व मंत्री ने खोली धान क्रय केन्द्रों की पोल

पूर्व मंत्री ने खोली धान क्रय केन्द्रों की पोल

सिकंदरपुर, बलिया। भाजपा नेता व पूर्व मंत्री राजधारी सिंह ने तहसील सिकंदरपुर के दर्जनों गांव का भ्रमण करने के बाद कहा कि जिला प्रशासन की स्वीकृति के बाद भी सरकारी धान क्रय केंद्रों पर धान की खरीदारी में स्थानीय कर्मचारियों द्वारा हीलाहवाली की जा रही है। इससे किसानों के धान की खरीद नहीं हो पा रही है। परिणाम स्वरुप किसान प्राइवेट दुकानदारों को सस्ते मूल्य पर अपना धान बेचने के लिए मजबूर होकर 1150 रुपये प्रति कुंतल धान बेचने को मजबूर है, जबकि सरकारी कीमत 1550 से 1590 रुपये प्रति कुंतल है। कर्मचारियों के हीलाहवाली की वजह से किसानों को 300 से 400 रुपये प्रति कुंतल का नुकसान हो रहा है।

पूर्व मंत्री ने कहा कि साधन सहकारी समितियों एवं गोदामों पर कर्मचारियों की उपस्थिति न होने के कारण भी किसान परेशान है। किसी भी साधन सहकारी समिति पर कोई कर्मचारी उपस्थित नहीं रहता है। कई साधन सहकारी समिति ऐसी हैं जो हमेशा बंद ही रहती हैं। कागजों में ही धान और गेहूं खरीद दर्ज कर बिचौलियों को सरकारी लाभ दे दिया जाता है। अगर कही खुलता भी है तो कर्मचारी बोरा न होने या मिल एलाट न होने का बहाना बनाकर किसानों को परेशान किया जा रहा है। पूर्व मंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश की सरकार के प्रथम प्राथमिकता में किसान के धान एवं गेहूं खरीददारी है, जो निर्धारित मूल्य पर करना है। लेकिन कर्मचारियों की लापरवाही चरम पर है।  उन्होंने जिलाधिकारी को पत्र लिखकर दोषी कर्मचारियों को दंडित करने की मांग की है। सुरेश सिंह, सुदामा राय, राकेश गुप्त, भोला सिंह, बालकृष्ण गुप्त, गिरिजेश मिश्र इत्यादि उपस्थित रहे।

About admin

Check Also

केडीबी डिग्री कालेज का छात्रसंघ: अध्यक्ष के दो प्रत्याशियों में एक का पर्चा खारिज

बलिया। कमला देवी बाजोरिया डिग्री कालेज दुबहर में छात्रसंघ के चुनाव के लिए दस दिसंबर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *