Breaking News
Home / ग़ाज़ीपुर / राजनीति के संत थे पूर्व शिक्षा मंत्री स्व. कालीचरण- विजय मिश्र

राजनीति के संत थे पूर्व शिक्षा मंत्री स्व. कालीचरण- विजय मिश्र

गाजीपुर। कालीचरण जी का संपूर्ण राजनीतिक जीवन किसी मनीषी से काम नहीं था, आप समाज में रहने वाले हर तबके की छोटी से छोटी जरूरतों पर अपनी निगाह रखते थे व उनकी कैसे मदद की जाए इसके लिए सदैव चिंतित रहा करते थे। इन्होंने आजीवन गरीब मजदूर किसान छात्र नौजवान सबकी सच्ची रहनुमाई की अति पिछड़े जनपद गाजीपुर में शिक्षा के क्षेत्र में अपना अनुकरणीय योगदान देकर आपने जो महान कार्य किया उसे कदापि भुलाया नहीं जा सकता। इन्हें गाजीपुर का महामना कहा जाए तो इसमें कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी, उक्त बातें पूर्व विधायक/पूर्व शिक्षा मंत्री रहें स्व. कालीचरण जी के निधनोपरांत उनके गृह ग्राम सादात स्थित पैतृक आवास पर शोक संतप्त परिजनों से मिलते हुए दुख की इस घड़ी में उन्हें संबल प्रदान करने व परिवारजनों को ईश्वर से सहनशक्ति प्रदान करने की कामना के पश्चात उपस्थित जनों के बीच बातचीत के दौरान उत्तर प्रदेश सरकार के पूर्व धर्मार्थ कार्य मंत्री विजय कुमार मिश्रा ने कही, अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए श्री मिश्र है कहां की अपने संपूर्ण राजनीतिक जीवन में समाज के लोगों को अगली कतार में कैसे स्थापित किया जाए। इसके लिए वह आजीवन प्रयास करते रहे। अंत में श्री मिश्र ने कहा उनके निधन से हमने एक राजनीतिक संत को खो दिया है समाज को इससे अपूरणीय क्षति हुई है। आज आवश्यकता इस बात की है की शिक्षा स्वास्थ्य सड़क बिजली पानी आदि सभी क्षेत्रों में आत्मनिर्भर जिस सुंदर गाजीपुर का सपना बाबूजी ने देखा था। हम सब मिलकर ऐसा काम करें जिससे उनका सपना साकार हो सके यही उनके प्रति हमारी सच्ची श्रद्धांजलि होगी। इस मौके पर उनके छोटे भाई शिवशंकर यादव , पुत्र सभाजीत यादव, सुनील सिंह, किशोर यादव, बबलू जायसवाल, सुरेंद्र यादव, उपेंद्र यादव, संतोष जायसवाल, बद्री मिश्र।।

About admin

Check Also

चन्दौली का पिछड़ा होना अफसरों की नाकामीः कृष्णा राज

चंदौली। केन्द्रीय कृषि राज्यमी मंत्री कृष्णा राज शुक्रवार को जनपद दौरे पर थी। इस दौरान …