Breaking News
Home / ब्रेकिंग न्यूज़ / भदोही: बेटी को अगर जलाओगे तो, मां-बहन कहाँ से पाओगे

भदोही: बेटी को अगर जलाओगे तो, मां-बहन कहाँ से पाओगे

भदोही। जिले के सीतामढ़ी में शुक्रवार को महिला सुरक्षा सप्ताह के अंतर्गत जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन  स्कूल में किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि एएसपी डॉ. संजय कुमार ने छात्राओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि सशक्त नारी के बिना सशक्त और सुदृढ़ समाज की कल्पना भी नही की जा सकती। देश की आधी आबादी लगातार नई ऊंचाइयों को हासिल कर रही है। पर कहीं-कहीं स्त्रियां समाज व लोकलज्जा के डर से यातनाएं व अपराध सहन कर रही हैं उन्हें ऐसा करने के बजाय खुलकर न्याय के लिए लड़ाई लड़नी चाहिए। आजकल महिलाऐं सोशल क्राइम की भी तेजी से शिकार हो रही हैं अतः उन्हें फेसबुक, व्हाट्सएप आदि का सतर्कता व सावधानी से ही उपयोग करना चाहिए। महिला सब इंस्पेक्टर सरोजमा सिंह ने छात्राओं को सशक्त करने के लिए डायल-100, वीमेन पॉवर लाइन-1090, एंटीरोमियो स्क्वायड, ट्विटर सेवा के साथ सेफ्टी टिप्स के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। और कहा कि समाज का काफी हिस्सा आज भी महिलाओं को नकारात्मक दृष्टि से देखता है और उन्हें बोझ मानता है पर ध्यान रखें कि बेटी को अगर जलाओगे तो मां, बहन कहाँ से पाओगे। थानाध्यक्ष ऊंज सुनील वर्मा ने कहा कि चुप्पी तोड़ो, खुलकर बोलो, क्योंकि अपराध छुपाना भी जुर्म का हिस्सा है। महिला को सृजन की शक्ति माना जाता है, एक शिक्षित स्त्री पूरी पीढ़ी को विकसित करने में सहायक होती है।इस दौरान थाना प्रभारी कोइरौना वीके सिंह ने कहा कि महिलाओं को सशक्त व सुरक्षित होने के लिए शिक्षित होने व प्रताड़ना सहन करने के बजाए आगे आकर न्याय के खिलाफ लड़ाई लड़ने की जरूरत है।इस दौरान चौकी इंचार्ज विनोद तिवारी, दीपक, प्रिंसिपल राजकुमारी, ऊषा समेत सैकड़ों छात्राएं मौजद थे।

 

About admin

Check Also

लापरवाहीः बूथों से गायब मिले 17 बीएलओ

चंदौली। जनपद में चल रहे मतदाता पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत रविवार को विशेष दिवस आयोजित …