Breaking News
Home / जौनपुर / डीएनए फिंगर प्रिंटिंग के जनक बीएचयू के पूर्व कुलपति डा. लालजी सिंह का हार्ट अटैक से निधन

डीएनए फिंगर प्रिंटिंग के जनक बीएचयू के पूर्व कुलपति डा. लालजी सिंह का हार्ट अटैक से निधन

जौनपुर/ रियाजुल हक। वाराणसी से हैदराबाद जाते समय बीएचयू के पूर्व  कुलपति डॉ लाल जी सिंह को दिल का दौरा पड़ा। शाम 7 बजे के आसपास उन्हें सर सुंदर लाल अस्पताल लाया गया जंहा उनकि मौत हो गयी। भारत मे  डीएनए फिंगर प्रिंटिंग के जनक थे डॉ लाल जी सिंह। मूल रूप से जौनपुर के रहने वाले थे। वर्तमान में सेंटेर फ़ॉर सेलुलर मॉलिक्यूलर बायोलॉजी हैदराबाद के डायरेक्टर के तौर पर कार्यरत थे। उत्तर प्रदेश में जौनपुर जिले के सदर तहसील एवं सिकरारा थाना क्षेत्र के कलवारी गांव के निवासी स्व. ठाकुर सूर्य नारायण सिंह के पुत्र के रूप में पांच जुलाई 1947 को डॉ॰ लालजी सिंह का जन्म हुआ था। इण्टरमीडियेट तक शिक्षा जिले में लेने के बाद उच्च शिक्षा के लिये 1962 में श्री सिंह बीएचयू गये जहां पर उन्होंने बीएससी एमएससी व पीएचडी की उपाधि प्राप्त की। वर्ष 1971 में पीएचडी की उपाधि प्राप्त करने के बाद वे कोलकाता गये जहां पर साइंस में 1974 तक एक फोलोशिप के तहत रिसर्च किया। इसके बाद वे छह माह की फोलोशिप पर यू॰के॰ गये और तीन माह की बढोत्तरी लेकर नौ माह बाद वापस भारत आये। जून 1987 में सीसीएमबी हैदराबाद में वैज्ञानिक पद पर कार्य करने लगे और 1998 से 2009 तक वहां का निदेशक रहे।

About admin

Check Also

लापरवाहीः बूथों से गायब मिले 17 बीएलओ

चंदौली। जनपद में चल रहे मतदाता पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत रविवार को विशेष दिवस आयोजित …