Breaking News
Home / ब्रेकिंग न्यूज़ / मिर्जापुर: नहरों में टैल तक पानी पहुंचाये- आयुक्त

मिर्जापुर: नहरों में टैल तक पानी पहुंचाये- आयुक्त

मिर्जापुर ।  आयुक्त विन्ध्याचल मण्डल मुरली मनोहर लाल की अध्यक्षता में आयुक्त कार्यालय के सभागार में मण्डल के तीनों जनपदों के अधिकारियों के साथ विकास , राजस्व एवं कानून व्यवस्था के बारे में विस्तृत समीक्षा की गयी । समीक्षा के दौरान मण्डलायुक्त ने सिंचाई विभाग के नहर प्रखंड के अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि किसानों की सिंचाई की सुविधा को ध्यान में रखते हुये नहरों में पानी टेल तक पहुंचाना सुनिष्चित करायें । उन्होंने खाद -बीज व कीट नाषक दवाओं की उपलब्धता बनाये रखें, ताकि किसानों कों किसी भी प्रकार की दिक्कत न होने पायें। अधीक्षण अभियन्ता सिंचाई ने आयुक्त को बताया कि बन्धो में पानी कम होने के कारण सभी कुछ नहरों में टैल तक पानी पहुंचाना सम्भव नही हो पा रहा है। मण्डलायुक्त ने यह भी कहा कि चैक डैम बनाने से पूर्व जिलाधिकारी स्तर पर एक कमेटी का गठन किया जाये उस कमेटी के स्थापन करने के बाद ही चेकडैम बनाने की कार्यवाही की जाये ताकि उसकी उपयोगिता हो सके । नहरों की सफाई के सम्बन्ध में कहा कि नहरों की सफाई के बाद भुगतान व्यय  शून्य दिखाया गया है यदि भुगतान न किया गया हो तत्काल सत्यापन कराकर भुगतान करायें। आयुक्त ने संयुक्त निदेशक कृशि रक्षा से कहा कि पारदर्शी किसान योजना के तहत अधिक से अधिक किसानों को पंजीकरण कराकर उन्हें लाभान्वित किया जाये तथा मृदा स्वस्थ्य कार्ड का वितरण भी मानक के अनुसार कराया जाये। आयुक्त ने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान कहा की  एम्बूलेन्स सेवा कहीं से फोन आने पर तत्काल निर्धारित समय 20 के अन्दर पहुंचना सुनिश्चित कराया जाये, प्रायः शिकायते आ रही है एम्बूलेन्स समय से नही पहुंच रहा है। उन्होंने तीनो जिलों के मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि अस्पतालों मे दवाओं की उपलब्धता बनाये रखे तथा समय-समय पर पी0एच0सी0 व सी0एच0सी0 को आकस्मिक निरीक्षण किया जाये ताकि चिकित्सकों की उपस्थिति बनी रहे अनुपस्थित पाये जानेवाले चिकित्सकों के विरूद्ध कडी से कडी कार्यवाही की जाये। निर्माणाधीन सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रो की समीक्षा के दौरान जनपद भदोही तथा सोनभद्र में प्रगति खराब होने से तेजी लाने का निर्देष दिया गया । मण्डलायुक्त ने हैण्डपम्पों के रीबोर के सम्बन्ध में कहा कि ग्राम पंचायतो के द्वारा रीबोर कराया जाना है परन्तु जन निगम से जांच कराने के बाद ही रीबोर कराया जाये, उन्होंने यह भी कहा रीबोर हेतु ग्राम पंचायतें कार्यदायी संस्था जलनिगम को ही चयनियत करें तो पारदर्शिता बनी रहेगी। बैठक मे 14 वां वित्त आयोग की भी समीक्षा की गयी तथा समय चयनित कार्य पूरा करने का निर्देश दिया गया। पेंशन प्रकरण में आयुक्त ने उप निदेषक समाज कल्याण को निर्देशित किया कि सभी समाज कल्याण अधिकारियों को निर्देषित करें कि  वे छात्रों की छात्रवृत्ति के मामले में अपने स्तर से आनलाइन फार्म भरवाया जाये ताकि कोई भी छात्र छात्रवृत्ति पाने से वंचित न रहने पाये। उन्होंने कहा कि यदि कहीं किसी छात्र को छात्रवृत्ति न मिलने की षिकायत बैठक में 14 वा विता आयोग की भी समीक्षा की गयी तथा समय चयनित कार्य पूरा करने का निर्देश दिया गया। पेंशन प्रकरण में आयुक्त ने उप निदेशक समाज कल्याण को निर्देशित किया की सभी समाज कल्याण अधिकारियों को निर्देशित करे कि वे छात्रो की छात्रवृत्ति के मामले में अपने स्तर से आनलाइन फार्म भरवाया जाये ताकि कोई भी छात्र छात्रवृत्ति पाने से वंचित न रहने पाये। उन्होंने कहा कि यदि कहीं किसी छात्र को छात्रवृत्ति न मिलने की शिकायत प्राप्त होती है तो सम्बंधित अधिकारी के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। इस अवसर पर उप निदेशक दिव्यांग जन के विरूद्ध बार-बार बैठकों में अनुपस्थित होने के कारण शासन को पत्र लिखने को निर्देश संयुक्त विकास आयुक्त को दिया गया । बैठक में वृद्धावस्था , विधवा तथा दिव्यांग जन पेंशन की भी समीक्षा की गयी । बैठक मे राष्‍ट्रीय खाद्य सुरक्षा , स्वच्छता मिशन , प्रधान मंत्री ग्रामीण आवास , पी0एम0जी0एस0वाई0, गड्डा मुक्ति सड़कों की प्रगति , निर्माणाधीन सड़कों की प्रगति नगरीय स्ट्रीय लाइट , विद्युत आपूर्ति , ट्रांसफार्मरों की स्थिति , सहितम अन्य सभी बिन्दुओं पर विस्तार से समीक्षा की गयी । इसके अलावा पचास लाख से ऊपर के परियोजनाओं की प्रगति के बारे में भी समीक्षा की गयी । आयुक्त ने इसके बाद राजस्व वसूली  कर एवं करेत्तर  कानून व्यवस्था की समीक्षा की तथा कानून व्यवस्था को बनाये रखने का निर्देश दिया । उन्होंने कहा कि राजस्व के मामले में उप जिलाधिकारी राजस्व वसूली की लक्ष्य की प्राप्ति के लिये वसूली कार्य में तेजी लाये। वादो के निस्तारण को भी समय से निस्तारण के निर्देष दिये गये। कर एवं करेत्तर में मनोरंजन , परिवहन , आबकारी , सेलटेक्स आदि की विस्तृत समीक्षा की गयी । इस अवसर पर सभी जिलाधिकारी से आयुक्त ने कहा कि अवैध खनन तथा ओवर लोडिंग की विरूद्ध अभियान चलाकर कार्यवाही की जाये। इस अवसर पर जिलाधिकारी मिर्जापुर विमल कुमार दुबे , भदोही विषाख , मुख्य विकास अधिकारी  प्रियंका निरंजन , संयुक्त मजिस्ट्रेट अश्‍वनी कुमार पाण्डेय , संयुक्त विकास आयुक्त राजीव वनकटा, अपर आयुक्त प्रशासन सूर्यमणि लालचन्द , अपर जिलाधिकारी  विजय बहादुर , सीडीओ  सोनभद्र रामाश्रय , सीडीओ भदोही के अलावा अन्य सम्बंधित विभाग के मण्डलीय अधिकारी उपस्थित रहे।

 

 

 

 

About admin

Check Also

लापरवाहीः बूथों से गायब मिले 17 बीएलओ

चंदौली। जनपद में चल रहे मतदाता पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत रविवार को विशेष दिवस आयोजित …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *