Breaking News
46
Home / अपराध / पुलिस मुठभेड़ में मारा गया जहानागंज नरसंहार का मुख्य आरोपी व 50 हजार ईनामिया मोहन पासी

पुलिस मुठभेड़ में मारा गया जहानागंज नरसंहार का मुख्य आरोपी व 50 हजार ईनामिया मोहन पासी

आजमगढ़। हापुड़ जिले में पुलिस मुठभेड़ में मारा गया 50 हजार का ईनामी बदमाश मोहन पासी जहानागंज थाना क्षेत्र की डीहा गांव के पास वर्ष 2004 में हएु सामूहिक नरसंहार में सजायाफ्ता था। मोहन पासी 18 दिसंबर को पेशी के दौरान आजमगढ न्‍यायालय परिसर से फरार हो गया था। तभी से आजमगढ पुलिस को उसकी तलाश थी। मोहन पासी जैसे शातिर अपराधी के मारे जाने से पुलिस के साथ ही आम आदमी ने भी राहत की सांस ली है। बता दें कि 24 अप्रैल 2004 को जहानागंज थाना क्षेत्र के ग्राम डीहां  निवासी व प्रधान पप्‍पू सिंह सहित चार लोग वैवाहिक कार्यक्रम से स्‍कार्पियों से लौट रहे थे। तभी मोहन पासी ने साथियो के साथ मिलकर बम से हमला किया था। बमबारी और गोलीबारी में राकेश सिंह ऊर्फ पप्‍पू व नीरज सिंह तथा बिट्टू सिंह के साथ ही गाजीपुर जनपद के सादात क्षेत्र निवासी निजी अंगरक्षक पिंटू सिंह की मौत हो गयी थी। फायरिंग के दौरान दिल्‍ली निवासी एक बदमाश भी मारा गया था। जिसका नाम और पता आजतक स्‍पष्‍ट नही हो सका। इस मामले में मोहन पासी को उम्रकैद की सजा सुनाई गयी थी। मोहन पासी पर कई अन्‍य अपराधिक मामले भी दर्ज थे। बीते 18 दिसंबर को उसे आजमगढ न्‍यायालय में पेशी के लिए लाया गया था। तभी वह पुलिसवालो को चकमा देकर फरार हो गया था। पुलिस तभी से उसी की तालाश में जुटी थी। उसके संभावित ठिकानो पर छापे भी मारे जा रहे थे। इसी बची सोमवार की देर रात पता चला की हापुड़ जिले में पुलिस और एसडीएफ ने उसे मार गिराया है। इससे पुलिस के साथ ही जिले के व्‍यवसायी वर्ग ने भी राहत की सांस ली है। कारण कि मोहन पासी की आजमगढ में ही नही बल्कि आसपास के जिलो में भी काफी दहशत थी। मोहन पासी जनपद के चर्चित श्‍यामबाबू पासी का मुख्‍य शूटर था। फरार होने के बाद यह अपराधी पुलिस के लिए चुनौती बना हुआ था। घटनाक्रम के अनुसार लखनऊ एसटीएफ द्वारा हापुड़ पुलिस को सोमवार देर शाम सूचना मिली की आजमगढ कोर्ट से 18 दिसंबर को पेशी के दौरान फरार बदमाश मोहन पासी साथी के साथ पिलखुवा से हापुड़ की ओर आ रहा है। एसटीएफ पुलिस बदमाशो का पीछा कर रही थी। हापुड़ सीमा पर नाकेबंदी कर ली गयी। तभी पुलिस को एक बाइक पर सवार दो लोग पिलखुवा की ओर से आते दिखे। पुलिस ने रूकने का इशारा किया तो बदमाशो ने फायर कर दिया और हापुड़ की ओर फरार होने लगे। पुलिस के पीछा करने पर बदमाश एचपीडीए के पास आनंद बिहार की ओर मुड़ गये। लेकिन बिजली घर के पास बाइक फिसल जाने से दोनो बदमाश गिर गए। इसके बाद बदमाश फायरिंग करते हुए खेतो की ओर भाग निकले। पुलिस की जबाबी कार्रवाई में एक बदमाश को सिर में गोली लगी, जिसे सरकारी अस्‍पताल में भर्ती कराया गया, जबकि दूसरा बदमाश अंधेरे का लाभ उठाकर फरार होने में कामयाब हो गया। बदमाश की पहचान मोहन पासी निवासी आजमगढ के रूप में हुई।

[rev_slider Purvanchal_wide]

About admin

Check Also

लखनऊ: सराकरी धन का दुरूपयोग है यूपी इन्वेेस्टर्स समिट- मायावती

लखनऊ। योगी सरकार द्वारा आयोजित दो दिवसीय यूपी इन्वेस्टर्स समिट पर बसपा सुप्रीमो ने निशाना …

56 queries in 0.743 seconds.