Breaking News
46
Home / धर्म / भदोही: अकाल मौत से बचना है तो महादेव की करें आराधना

भदोही: अकाल मौत से बचना है तो महादेव की करें आराधना

भदोही। सवाल तो यह उठता है कि क्या निश्चित मृत्यु से पहले भी इंसान की मृत्यु होती है।  तो इसका भी जवाब हैं हां! समय से पहले भी जीव की मृत्यु होती है,  जिसे बोलचाल की भाषा में अकाल मृत्यु कहा जाता है।  यदि इससे बचना है तो इसका एक सरल उपाय महाकाल की वह क्षणिक उपासना है जिसमें जीवन में एक बार ही सही,  लेकिन अपने हाथों से उनका पार्थिव शिवलिंग बनाना चाहिए।  यदि आपने महाकाल का पार्थिव शिवलिंग बनाया तो महाकाल की महामहिमा से अकाल मृत्यु से निजात के साथ हाथ की लकीरों में उलझी आपकी किस्मत भी बदल सकती है।  जी हां,  मानो तो देव नहीं तो पत्थर। विश्वास पर टिकी दुनिया में आज भी तमाम ऐसे गूढ़ रहस्य है जिसके आसपास होने के बाद भी इंसान इससे अनजान बना रहता है।  ऐसा ही एक रहस्य महाकाल की भक्ति से जुड़ा है। यह रहस्य है पार्थिव शिवलिंग का। महर्षि बाल्मीकि की तपोस्थली सीतामढ़ी में महाशिवरात्रि 13 फरवरी से 23 फरवरी तक होने जा रहे सवार करोड़ पार्थिव शिवलिंग महाअनुष्ठान में आपको यह सौभाग्य आपके क्षेत्र में हासिल होने जा रहा है।  सीतामढ़ी के गंगा तट पर महाअनुष्ठान के तहत सवा करोड़ पार्थिव शिवलिंग महाअनुष्ठान कई तैयारियां अंतिम चरण में पहुंच गई है। पिछले कई दिनों से तट पर साधानारत स्वामी श्री बृजेशानंद जी महराज के साथ आयोजन के पदाधिकारियों ने इस महाअनुष्ठान की तैयारियां दिन रात एक कर पूरी की है।  तैयारियाँ अंतिम चरण में है और लोगों की सहयोग भी पूरी निष्ठा के साथ मिल रहा है।  इस महाआयोजन में काशी-प्रयाग और विन्ध्य की संगम स्थली भदोही से बड़ी संख्या में लोग उमड़ेगे ऐसे में भला आप क्यों पीछे रहें। महराज की की मान्यता है की महाकाल की आराधना अकाल मौत को रोक सकती है। पदाधिकारियो ने झोंकी ताकत सीतामढ़ी में सवा करोड़ पार्थिव शिवलिंग निर्माण महाअनुष्ठान की तैयारियों में आयोजन समिति के अध्यक्ष राहुल दुबे,  कोषाध्यक्ष सुरेशचंद्र मिश्रा,  विधान चंद दुबे मंडल अध्यक्ष भाजपा डीघ,  राम उजागिर शुक्ल,  श्याम बहादुर सिंह,  विमल मिश्रा समेत बड़ी संख्या में लोग लगे हुए हैं।

[rev_slider Purvanchal_wide]

About admin

Check Also

चंदौली: ट्रेन से कटकर अज्ञात महिला की मौत

चंदौली। क्षेत्र के लीलापुर गांव एक अज्ञात महिला ट्रेन की चपेट में आ गयी, जिससे …

58 queries in 0.739 seconds.