Breaking News
46
Home / ब्रेकिंग न्यूज़ / इलाहाबाद कुंभ: विश्व के सबसे बड़े धार्मिक मेले के लिए चाहिए 24 अरब रूपये

इलाहाबाद कुंभ: विश्व के सबसे बड़े धार्मिक मेले के लिए चाहिए 24 अरब रूपये

लखनऊ  दुनिया के सबसे बड़े धार्मिक आयोजन इलाहाबाद के कुंभ के सफल आयोजन के लिए प्रदेश सरकार को केंद्र से करीब 24 अरब रुपये चाहिए। इससे पेयजल, प्रकाश, सफाई, सुरक्षा, स्वास्थ्य, सुरक्षित और बेहतर यातायात के 726 कार्य होने हैं। अगस्त और अक्टूबर, 2017 में अलग-अलग पत्र भेज चुकी है। इसके पहले 22 मई, 2017 को कुंभ मेले के लिए केंद्र को दो हजार करोड़ रुपये का प्रस्ताव भेज कर स्पेशल ग्रांट मंजूर करने का अनुरोध किया गया था लेकिन, मंडलायुक्त इलाहाबाद से मिले संशोधित प्रस्ताव के बाद इसे बढ़ा दिया गया। खुद प्रदेश सरकार ने बजट में कुंभ के लिए 500 करोड़ रुपये का प्रावधान किया था। वर्ष 2013 में आयोजित महाकुंभ में इलाहाबाद में करीब 12 करोड़ श्रद्धालु और पर्यटक आए थे। इस बार सरकार जिस तरह से कुंभ की ब्रांडिंग कर रही है, उससे उम्मीद है कि यह संख्या और बढ़ सकती है। एक जगह पर इतना बड़ा जमावड़ा। इसमें शामिल देश-विदेश के लोगों पर उत्तर प्रदेश की अच्छी छाप पड़े, वे बेहतर संदेश लेकर यहां से जाएं, इसके लिए सरकार शुरू से ही कुंभ के सफल आयोजन के लिए प्रतिबद्ध है। इसी के अनुसार प्रयास भी जारी है। शासन के शीर्ष स्तर पर वहां जारी कार्यों की लगातार निगरानी हो रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपनी इलाहाबाद की हर यात्रा के दौरान कुंभ के मद्देनजर विकास कार्यों की समीक्षा कर रहे हैं। खुद वह कुंभ के ‘ब्रांडिंग का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं। हर खास मेहमान से मुलाकात के दौरान उनको कुंभ का लोगो देने के साथ कुंभ में आने का आमंत्रण भी दे रहे हैं। सरकार के हर पत्राचार पर कुंभ का लोगो अनिवार्य रूप से दर्शाया जा रहा है। हाल ही में दिल्ली में आयोजित प्रवासी सांसदों के सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुंभ की चर्चा करते हुए उनको इसमें आने का भी आमंत्रण दिया। इसके अलावा यूनेस्को द्वारा कुंभ को ‘ग्लोबल इंटैजिबल कल्चरल हेरिटेज में शामिल करने के बाद से कुंभ के सफल आयोजन को लेकर प्रदेश सरकार की जिम्मेदारी और बढ़ गयी है। कुंभ के सफल आयोजन के लिए सरकार भी कोई कोर-कसर नहीं बाकी रखना चाहती है। इसकी ब्रांडिंग के लिए सरकार उज्जैन के सिंहस्थ और नासिक में सफल कुंभ का आयोजन करने वाली क्रमश: मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र सरकार के भी संपर्क में है। कुंभ के मद्देनजर इलाहाबाद में चल रहे कार्यों की निगरानी के लिए सरकार ने नगर विकास मंत्री, मुख्य सचिव और स्थानीय मंडलायुक्त की अध्यक्षता में तीन कमेटियां गठित की हैं। लोक निर्माण, उप्र पावर कारपोरेशन, उप्र जल निगम, नगर निगम इलाहाबाद, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, पुलिस, प्रशासन, सिंचाई एवं जल संसाधन, नगर पंचायत झूंसी, आवास एवं शहरी नियोजन, मेला प्रशासन, परिवहन, सूचना, इलाहाबाद विकास प्राधिकरण, पर्यटन और मोती लाल नेहरू मेडिकल कालेज।

[rev_slider Purvanchal_wide]

About admin

Check Also

चंदौली: ट्रेन से कटकर अज्ञात महिला की मौत

चंदौली। क्षेत्र के लीलापुर गांव एक अज्ञात महिला ट्रेन की चपेट में आ गयी, जिससे …

56 queries in 0.781 seconds.